यशपाल ने कहा कि बच्चों का माता पिता और अध्यापकों से बढ़कर अन्य कोई मित्र नहीं होता

Spread the love

उपायुक्त यशपाल ने कहा कि बच्चों का माता पिता और अध्यापकों से बढ़कर अन्य कोई मित्र नहीं होता, इसलिए बच्चों को माता-पिता व अध्यापकों के साथ पढ़ाई के अलावा निजी जीवन के बारे में भी खुलकर बातचीत करनी चाहिए। जीवन में हमेशा खुश रहे था तथा खुशी के साथ सभी कार्यों को बेहतर तरीके से पूरा करोगे तो निश्चित तौर पर सफलता मिलेगी। उपायुक्त यशपाल ने यह विचार सोमवार को एनआईटी-3 के राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में मेगा पीटीएम के दौरान टीचर, अभिभावकों व विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए व्यक्त किए।

उपायुक्त यशपाल ने इस अवसर पर स्कूल में जिला फरीदाबाद का 16वां और प्रदेश का 102वें बाल कल्याण परामर्श केंद्र की भी शुरुआत की। उन्होंने कहा कि अच्छे इंसान में बहुत कान्फीडेंस होता है, वह अपनी बात को बेझिझक होकर रखता है। उन्होंने कहा कि बेटा-बेटी में कोई फर्क नहीं होता, बेटियां मां-बाप की ज्यादा सेवा और बातचीत में भगीदार होती हैं। उपायुक्त ने बच्चों को गुड टच और बैड टच बारे में भी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि समाज जागरुकता के साथ ही सम्पन्नता की ओर अग्रसर होता है। उन्होंने कहा कि हर नागरिक को सीमाओं की मर्यादा में रहकर कार्य करना चाहिए। मर्यादा के बाहर मजाक भी नहीं करना चाहिए।

बच्चे देश का भविष्य हैं, देश के भविष्य की नींव मजबूत होगी तो निश्चित तौर पर विश्व में भारत विकसित देश बनेगा। उपायुक्त ने विद्यार्थियों को खून की कमी और पोषण आहार बारे में भी जानकारी दी। उन्होंने बच्चों के कल्याण से संबंधित सरकार की योजनाओं के बारे में भी जागरूक किया। मंडल बाल कल्याण अधिकारी एवं हरियाणा के बाल कल्याण सलाह एवं परामर्श केंद्र के नोडल अधिकारी अनिल मलिक ने कहा कि छात्राओं को माता पिता और अध्यापकों को अपना मित्र बनाना चाहिए। उनके साथ मित्रों जैसा व्यवहार करोगे तो वो भी आपको मित्र मानेंगे। जिससे वे आपकी सभी समस्याओं का तो निदान करेंगे ही साथ अपनी स्वयं की समस्याओं बारे भी सुझाव सांझे करेंगे।

उन्होंने माता पिता और अध्यापकों तथा विद्यार्थियों को मनोवैज्ञानिक विश्लेषण बारे भी विस्तार पूर्वक जानकारी दी। उन्होंने सफलता के लिए अन्य सुझाव और अनुभव भी सांझा किए गए और गुणवत्ता पूर्वक सीधा संवाद किया। छात्राओं को गुड टच और बैड टच बारे में जानकारी दी और प्रश्नोत्तर किए। कार्यक्रम में हरियाणा बाल कल्याण परिषद के स्टेट कोर्डिनेटर उदय सिंह, जिला शिक्षा अधिकारी सतिंदर कौर वर्मा, खंड शिक्षा अधिकारी डॉ इंदु रानी, स्कूल के प्रिंसीपल रविन्द्र कुमार ने भी सम्बोधित किया।इस अवसर पर जिला बाल कल्याण अधिकारी एस सी खत्री, रज्जो राणा, प्रवीण गुप्ता, लाखन सिंह लोधी, सुषमा यादव, केंद्र कास्लर गीता देवी सहित अभिभावक और विद्यार्थि उपस्थित थे।

%d bloggers like this: