फिर से ये क्या कह दिया हेमंत सोरेन ने-सीएम से बात कर पीएम अपनी टीआरपी बढ़ाते हैं

Spread the love

झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन ने एक बार फिर से ये क्या कह दिया कि राज्यों के सीएम से बात कर पीएम अपनी पॉलिटिकल टीआरपी बढ़ाते हैं.

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने एक बार फिर से पीएम मोदी पर जमकर निशाना साधा है और कहा है कि केंद्र सरकार ने संकट की घड़ी में राज्यों को उनके हाल पर छोड़ दिया है. उन्हें ऐसा लगता है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पॉलिटिकल टीआरपी के लिए राज्यों के मुख्यमंत्रियों से फोन पर बात करते हैं. उनके समक्ष मुख्यमंत्रियों को न तो अपने राज्य की समस्याएं रखने का समय दिया जाता है, न ही कोरोना संक्रमण को लेकर चर्चा के दौरान प्रधानमंत्री की ओर से स्पष्ट समाधान बताया जाता है.

गुरुवार को निजी न्यूज चैनलों से बातचीत में उन्होंने कहा कि देश भयंकर तूफान में फंसा हुआ है. संकट का यह दौर सभी के लिए है. यह समय सबको मिलकर समस्या से बाहर निकलने की है. राजनीतिक दुश्मनी के लिए तो आगे और वक्त मिलेगा.

उन्होंने कहा कि वैश्विक महामारी में दवाएं, ऑक्सीजन और सारे संसाधन केंद्र सरकार राज्यों को उपलब्ध कराती है तो ऐसे में ऐसी मुश्किल घड़ी में झारखंड को भी अभिभावक की तरह केंद्र को मदद पहुंचाना चाहिए था, लेकिन राज्यों को उनके हाल पर छोड़ दिया गया है.

सीएम ने कहा कि राज्यों को केंद्र से सुविधा के नाम पर केवल चर्चा का कोरम पूरा किया जाना गलत है. कई चीजों में गैर-भाजपा शासित राज्य होने के कारण झारखंड के साथ राजनीति साफ दिखती है. उन्होंने कहा कि झारखंड देश को सर्वाधिक आक्सीजन देने वाला राज्य है, लेकिन हमें अपनी ही सीमा में उत्पादित ऑक्सीजन के लिए केंद्र सरकार को अलॉटमेंट भेजकर अनुमति लेनी पड़ती है.

उन्होंने कहा कि कोरोना से निपटने को दूसरे चरण की तैयारी में केंद्र सरकार से चूक हुई है. देश के ज्यादातर राज्यों ने लॉकडाउन को अपने-अपने तरीके से लागू किया है. प्रधानमंत्री की जिला उपायुक्तों के साथ कोरोना संक्रमण पर चर्चा के दौरान मुख्यमंत्रियों को समय की उपलब्धता के आधार पर मौजूद रहने के लिए कहा गया था. जिला उपायुक्तों से पीएमओ का बात करना और सीएम को बोलने का अवसर नहीं देना संघीय ढांचे में असंतुलन पैदा करता है, यह अच्छी परंपरा नहीं है.

%d bloggers like this: