वतन की आवाज: रेस्टोरेंट और रेहड़ी पटरी पर बिठाकर खिलाने पर लगे प्रतिबंध : श्याम किशोर गुप्ता

Spread the love

नोएडा: रेहड़ी पटरी संचालक एसोसिएशन ने कोविड-19 के मध्यनजर प्रशासन से रेहड़ी पटरी तथा रेस्टोरेंट पर बिठाकर खिलाने पर पूर्णरूप से प्रतिबंध लगाने की मांग की है। रेहड़ी पटरी संचालक एसोसिएशन के महासचिव नें रेहड़ी पटरी तथा ठेली दुकानदारों से आह्वान किया है कि वह रेहड़ी पटरी पर खिलाने के बजाय खाना पैक करके दे। जिससे कोविड के विकराल स्थिति पर काबू पाया जा सके और किसी का रोजगार भी न जाय।

उनका कहना है कि अक्सर देखा जाता है कि रेहड़ी पटरी या ठेली पर खाने के समय पर भीड़ लग जाते है। इस समय में कही भी भीड़ जमा हो यह किसी के लिए भी अच्छा नहीं है। अगर खाना को पैक करके दिया जाय तो लोग अपने अपने स्थान जाकर भोजन करेंगे। जिससे कोविड के फैलाव को रोकने में सहायता मिलेगा। अच्छा होता कि प्रशासन इस पर प्रतिबंध लगाता, लेकिन अगर नहीं भी लगाता है तो हम सभी लोगों को कोविड के प्रसार को रोकने में प्रभावी कदम उठाना चाहिए।

वेंडिंग जोन को एक मीटर की दूरी पर बनाई गयी है और उसमें हम सबको सुनिश्चित करना है कि दो गज की दूरी बनी रहे। नोएडा टाउन वेंडिंग कमेटी के महिला सदस्य अर्पणा शर्मा ने इस विषय पर मिडिया से बात की। उनका कहना था कि हम लोग माननीय मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश और नोएडा के सीओ श्रीमती रितु महेश्वरी जी से मांग करते है कि रेहड़ी पटरी और रेस्टोरेंट में बैठकर या खड़े होकर खाना खाने पर कुछ समय से लिए प्रतिबंध लगा दी जाय।

इसके अलावा नोएडा के सेक्टर में सब्जी तथा फल के आपूर्ति को लेकर भी कहा कि उन वेंडर को जिनकों प्राधिकरण ने लाईसेंस दिया हुआ उनको इस काम की जिम्मेदारी दी जानी चाहिए। ताकि लोगों को ताजा फल और सब्जी भी मिलता रहे और कोई बेरोजगार भी नहीं हो। जिस सेक्टर के पास जो है उन्ही में से चुनाव होनी चाहिए। सुनिश्चित किये जाने चाहिए कि जिसको इस काम के जिम्मेदारी दी जा रही है वह इसी व्यवसाय से जुड़ा हो औऱ प्राधिकरण से लाईसेंस प्राप्त कर चुका हो। जैसे पिछली बार हुआ था वैसा न हो। क्योंकि पिछली बार के लाॅक डाउन मे रेहड़ी पटरी वालों पर बेरोजगारी की बड़ी मार पड़ी थी जिससे आज तक नही निकल पाये है।

वेंडर से भी कहना चाहता हूँ कि दो गज कि दूरी बहुत है जरुरी का पालन अवश्य करे। मास्क लगाये। और जो भी कोविड को फैलने में कारगर हो जरूर करें। हम लोग जितेंगे और कोरोना हारेगा।

%d bloggers like this: