गाँव-गाँव उगाही का आरोप रुद्राक्ष के नाम पर

Spread the love

इस बच्चे का पिता, ओर उसके साथी, बच्चे का इस्तेमाल करके लोगो से 1 करोड़ से ऊपर ले चुके है। जो डाँक्टर इस बीमारी पे इलाज कर रहा है उसको ये नहीं दिखा रहे। दिल्ली के अंदर इसका इलाज फ्री चल रहा है। किसी भी डाँक्टर ने उनको नहीं लिखके दिया 18 करोड़ का खर्चा है।

दिल्ली की चांदनी चौक निवासी एक महिला ने गंभीर बीमारी से पीड़ि बच्चे रुद्राक्ष के स्वजन पर बच्चे को मोहरा बनाकर गांव-गांव अवैध उगाही करने का आरोप लगाया है। उन्होंने ट्वीट करके कहा कि दिल्ली के एम्स अस्पताल में मस्क्यूलर डिस्ट्रोफी बीमारी के निःशुल्क उपचार की सुविधा है। किसी भी डाँक्टर ने यह लिखकर नहीं दिया कि बच्चे को 18 करोड़ का इंजेक्शन लगना है। मामले में उन्होंने नोएडा पुलिस कमिश्नर व गृह मंत्रालय से शिकायत करने की भी बात कही है। उधर, रुद्राक्ष के पिता कपिल बैसोया ने उस महिला पर आरोप लगाया है कि महिला उन पर रुपये देने का दबाव बना रही है।

महिला शिखा जैन दिल्ली की एक संस्था में नेशनल प्लानिंग एडवाइजर हैं। कुछ दिनों पहले वह रुद्राक्ष के स्वजन से मिलने के लिए दिल्ली से नोएडा आई थीं। बच्चा स्पाइनल मस्क्युलर डिस्ट्राफी-2 से पीड़ित है। बीमारी के संबंध में उन्होंने बेंगलुरु के एक चिकित्सक से बात की। वह इस बीमारी के विशेषज्ञ हैं।

पता चला कि इस बीमारी के लिए 18 करोड़ का कोई इंजेक्शन नहीं आता। स्वजन यह भी नहीं बता रहे कि उन्हें किस डाँक्टर ने 18 करोड़ का इंजेक्शन लगने की बात बताई है। उन्होंने बताया कि वह अबतक एक करोड़ रुपये से ज्यादा फंड जुटा चुके हैं, लेकिन बच्चे को अस्पताल में भर्ती नहीं कर रहे। लोगों को अपने चंगुल में फंसाकर उनसे रुपये वसूल रहे हैं। आरोप यह भी है कि इसमें कुछ सफेदपोश भी शामिल हैं।

%d bloggers like this: