वेक्सीन पाॅलिसी सवाल, तो वेक्सीन बर्बाद करने पर क्यों नही ?

Spread the love

कुछ दिनों से दिल्ली में केन्द्र सरकार के खिलाफ एक पोस्टर अभियान चलाया जा रहा है, जिसमें लिखा है कि मोदी जी आप हमारे बच्चों की वैक्सीन विदेशी को क्यों दी ? लगातार देश में अफवाह फैलाया जा रहा है। देश में अराजकता का माहौल बनाने की कोशिश है सिर्फ इसलिए कि सरकार बदनाम हो और किसी भी तरीके से देश के इस समय के मेहनती और ईमानदार सरकार को हटाकर चोरो की सत्ता और इस्लामिक दबदबा बनाया जा सके। राहुल गांधी और प्रियंका गांधी गिरफ्तारी की मांग करते हुए टवीट किया। लेकिन यह भी जानना होगा कि दोनो ही कई मामलों में जमानत पर बाहर है या कहे कि एडवांस में जमानत लेकर घुम रहे है।

सवाल उठता है कि वेक्सीन मैत्री एक पहले थी या मोदी सरकार के महत्वाकांक्षा ? 17 मार्च 2021 को विदेश मंत्री एस जयशंकर नें वेक्सीन मैत्री को विस्तार से बताया था। जिसमें भारत के द्वारा कोरोना के समय में हाइड्रोक्लोराइड, पैरासिटामोल, दवाओं से साथ-साथ पीपीई किट और डायग्नोस्टिक्स किट आदि 150 देशों को दिया। निश्चित तौर पर आज तक दुनिया सो भीख मांगने वाली देश भारत पहली बार दुनिया को सहायता किया जो कि एक गर्व की बात है।

इसी श्रृखंला में आगे बढ़ते हुए मोदी सरकार नें वेश्विक पटल पर भारत के छवि को और मजबूत बनाने के लिए वेक्सीन मैत्री की शुरुआत की। जिसमें सबसे पहले भारत अपने पड़ोसी देश मालदीप, भूटान, बंग्लादेश, नेपाल, श्रीलंका, और म्यामार के साथ मारीशस और सेशेल्स को वेक्सीन की खुराक दी है। भारत के द्वारा अभी तर 72 देशों को वेक्सीन दिया गया है।

वास्तव मे वेक्सीन मैत्री की शुरुआत 20 जनवरी 2021 को हो चुकी थी और भारत अब तक 6.6 करोड़ वेक्सीन दुनिया भर के देशों को दे चुकी है। जिसे 30 मार्च को फिर भारत के स्थिति को देखते हुए मैत्री पालिसी को रद्ध कर दिया गया। अब देश के विपक्ष व लिबरल इसकों मुद्दा बना लिया है। जबकि यही लोग पहले वेक्सीन पर सवाल उठा रहे थे जिसके कारण देश में वेक्सीन के करोड़ों खुराक बर्बाद हो गया और करोड़ों खुराक बर्बाद होने के कगार पर था जिसे मोदी सरकार नें वेक्सीन मैत्री के तहत भेज दिया। किसने क्या कहा यह आप खुद ही देख लिजिए।

जब वैक्सीन बन चुकी थी ….तब एक साजिश के तहत मुसलमानों और तमाम मुस्लिम मौलाना मौलवियों ने… यह सवाल उठाने खड़े कर दिए कि ….जब तक वैक्सीन पर हलाल सर्टिफिकेट नहीं लगेगा …तब तक हम वैक्सिंन नहीं लगाएंगे
.
महीनों तक मुस्लिम समुदाय वैक्सीन …हलाल है कि हराम है ….इस पर बहस करता रहा …
यहां तक कि अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के पढ़े-लिखे प्रोफेसर ने भी यह सोचकर वैक्सीन नहीं लगवाया यह इस पर हलाल सर्टिफिकेट नहीं है
.
कांग्रेसी नेता मनीष तिवारी ने वैक्सीन पर यह कहा कि …नरेंद्र मोदी भारतीयों को गिनी पिग बना रहे हैं …छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री ने यहां तक कह दिया कि ….वह अपने यहां कोबिशिल्ड को मंजूरी नहीं देंगे …क्योंकि उन्हें इस पर विश्वास नहीं है
.
टीवी एंकर और News24 के पत्रकार संदीप चौधरी ने खुलेआम भारतीय वैक्सीन पर सवाल उठाते हुए बीजेपी प्रवक्ता के साथ बहस में कहा …..आप बीजेपी वाले हैं …आपको भारत में बनी वैक्सीन पर भरोसा है ….आप वैक्सीन लगवाईये ….मैं तो बिल्कुल नहीं लगवाउंगा …क्योंकि मुझे वैक्सीन पर बिल्कुल भरोसा नही है
.
आम आदमी पार्टी के आईटी सेल संयोजक ….अंकित लाल ने वैक्सीन पर सवाल उठाते हुए तमाम ट्वीट किए… राघव चड्ढा ने एक ट्वीट में कहा कि आखिर मोदी को वैक्सीन की इतनी जल्दी क्या है ….कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णन ने …ट्विटर पर वैक्सीन का बेहद घटिया मजाक बनाया ….और भारत की वैक्सीन को खुलेआम फर्जी वैक्सीन कहा…
.
वामपंथी कार्टूनिस्ट सतीश आचार्य ने ….भारत की वैक्सीन का बेहद अभद्र कार्टून बनाया …उस कार्टून के अनुसार भारत की वैक्सीन पानी और ग्लूकोस का मिश्रण भर है …
.
समाजवादी पार्टी के प्रमुख और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने ….प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि ….उन्हें वैक्सीन पर बिल्कुल भी भरोसा नहीं है …यह तो बीजेपी की वैक्सीन है …मैं बीजेपी की वैक्सीन कभी नहीं लगाऊंगा
.
इतने बड़े पैमाने पर वैक्सीन के प्रति नकारात्मकता फैलाया गया ….यहां तक कि यह कहा गया कि अगर वैक्सीन कारगर होती तो ….खुद मोदी क्यों नहीं लगवा रहे ….और इस नकारात्मक प्रचार की वजह से…. लोगों के मन में …वैक्सीन के प्रति शंका उत्पन्न हुई
.
हर वैक्सीन की सेल्फ लाइफ होती है …. वैक्सीन के करोड़ों डोज स्टोर में यूं ही पड़े रहे ….और लाखों डोज वैक्सीन की खराब हो गई
.
अब ऐसे में नरेंद्र मोदी ने ….वैक्सीन डिप्लोमेसी किया ….तमाम देशो को भेजा …यहां तक कि सऊदी अरब को भी …. उन्होंने कई लाख डोज वैक्सीन दिया
.
और जब भारत पर गंभीर आपदा आई ….तब हर उन देशों ने ….भारत को भी दिल खोल कर मदद किया …जिन्हें भारत ने वैक्सीन दिया था
.
*सोचिए भारत का विपक्ष कितना नीच है …अब वही विपक्ष कह रहा है कि ….मोदी हमें वैक्सीन क्यों नहीं दे रहे*

%d bloggers like this: