केंद्र के किस फैसले से खुश होकर उद्धव ठाकरे ने पीएम मोदी को दिया धन्यवाद? जानें पूरा मामला

Spread the love

केन्द्र सरकार ने भारत बायोटेक के कोरोना वायरस रोधी टीके कोवैक्सीन (कोवैक्सिन) के उत्पादन के लिए शहर के हाफकिन इंस्टीट्यूट को अपनी अनुमति दे दी है। महाराष्ट्र सरकार की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक टीके का उत्पादन मुंबई में किया जाएगा। केंद्र की इस मंजूरी के बाद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद दिया है।

मुख्यमंत्री कार्यालय (सीएमओ) के अधिकारी ने कहा कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने पहले केंद्र से अनुरोध किया था कि वह हाफकिन इंस्टीट्यूट को कोवैक्सीन का उत्पादन करने की अनुमति दे। वर्तमान में इसका निर्माण हैदराबाद स्थित भारत बायोटेक द्वारा किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इसके लिए केन्द्र ने अपनी मंजूरी दे दी है। अधिकारी ने बताया कि ठाकरे ने अनुमति देने के लिए केन्द्र सरकार को धन्यवाद दिया।

मुख्यमंत्री कार्यालय (सीएमओ) के अधिकारी ने कहा कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने पहले केंद्र से अनुरोध किया था कि वह हाफकिन इंस्टीट्यूट को कोवैक्सीन का उत्पादन करने की अनुमति दे। वर्तमान में इसका निर्माण हैदराबाद स्थित भारत बायोटेक द्वारा किया जा रहा है। बता दें कि पिछले दिनों महाराष्ट्र सरकार ने राज्य में टीके की कमी को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा था और कहा था कि केंद्र सरकार उनके साथ भेदभाव कर रही है। भारत बायोटेक टीके के प्रोडक्सन के लिए हाफकिन इंस्टीट्यूट के साथ अपनी तकनीक शेयर करेगा, जिसके बाद टीके का उत्पादन शुरू होगा।

टीकों के आवेदन पर तीन दिन के भीतर फैसला
केंद्र सरकार ने गुरुवार को कहा कि भारत का औषधि नियामक विदेश में निर्मित टीकों के सीमित आपात इस्तेमाल के लिए आवेदन मिलने के तीन दिन के भीतर इस पर फैसला कर लेगा। केंद्रीय औषधि प्राधिकरण, सीडीएससीओ आपात स्थिति में सीमित इस्तेमाल के वास्ते मंजूरी के लिए पंजीकरण प्रमाणपत्रों (कोविड-19 रोधी टीका के मामले में उत्पाद और उसके पंजीकरण, निर्माण स्थल) और आयात लाइसेंस के लिए आवेदन दिए जाने से तीन कामकाजी दिन के भीतर इस पर विचार करेगा।

%d bloggers like this: