यमुना एक्सप्रेसवे पर आवाजाही रोकी गई

Spread the love

कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए एक और कड़ा कदम उठाने का फैसला लिया गया है. प्रशासन ने यमुना एक्सप्रेसवे को बंद कर दिया गया है

कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए एक और कड़ा कदम उठाने का फैसला लिया गया है. प्रशासन ने यमुना एक्सप्रेसवे को बंद कर दिया गया है और इस मार्ग पर पुलिस द्वारा बेरिगेटिंग की जा रही है, जो इस मार्ग से गुजर रहे हैं, उन्हें केवल तभी अनुमति दी जाएगी, जब उनके पास जाने के लिए वैध कारण होगा. यह आपातकालीन सेवाओं के लिए भी खुला रहेगा. यह जानकारी ग्रेटर नोएडा के डीसीपी ने दी है. वहीं सोमवार को सीएम योगी आदित्यनाथ ने लोगों से लॉकडाउन को गंभीरता से लेने की अपील करते हुए सोमवार को कहा कि राज्य में कोरोना वायरस का आज एक भी मामला सामने नहीं आया है.

योगी ने कहा, ‘आज उत्तर प्रदेश में संक्रमण का कोई नया मामला नहीं आया है. प्रदेशवासियों के सहयोग से हम इस महामारी को पूरी तरह रोकने में सफल होंगे. उन्होंने कहा कि राज्य में अब तक 31 लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की सूचना है. जिनमें से 11 (रिकवर) स्वस्थ हुए हैं और शेष की हालत स्थिर है. उन्होंने कहा कि अन्यों के स्वास्थ्य में भी तेजी से सुधार हो रहा है लेकिन सावधानी आवश्यक है.

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘एक-एक गतिविधि पर मैं खुद नजर रख रहा हूं. समीक्षा कर रहा हूं. जनता से अपील है कि कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर पूरी सावधानी रखें. प्रदेश में यह नियंत्रण में है. हमारे पास पर्याप्त संख्या में जांच केन्द्र हैं. अभी पूरे राज्य के पृथक वार्डों में दो हजार बिस्तर हैं. अगले दो-तीन दिन में इस संख्या को बढ़ाकर 10 हजार बिस्तर करने का लक्ष्य है.’

उन्होंने कहा, ‘जिन 16 जिलों को लॉकडाउन किया गया है, वहां या तो कोरोना वायरस से जुड़े लोग थे, या संदिग्ध पाए गए, या बाहर से आए लोगों की संख्या ज्यादा थी. इन जिलों में सफाई और संक्रमण मुक्ति का काम युद्धस्तर पर किया जा रहा है.’

योगी ने कहा कि वह मंगलवार को उच्च व्यापारिक संगठनों के पदाधिकारियों और दवा विक्रेता संगठनों के पदाधिकारियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बात करेंगे. उन्होंने कहा, ‘हमारा प्रयास होगा कि किसी भी जिले में आवश्यक वस्तुओं की कमी ना होने पाए. लेकिन लोग कम से कम घरों से बाहर ना निकलें. वे अपनी जरूरी मांग से अवगत करा दें, हम पूरी तत्परता से सहयोग को तैयार हैं. जहां कहीं आवश्यकता पड़ी तो हम पीआरवी-112 से आपूर्ति करेंगे.’

योगी ने सुबह ट्वीट किया था, ” आप सब से पुनः अपील है कि लॉकडाउन को गंभीरता से लें. घर के अंदर रहें, अपने आप को बचाएं, अपने परिवार को बचाएं.” उन्होंने कहा, “सभी से अनुरोध है कि निर्देशों, नियमों और कानूनों का पालन करें और इस महामारी के विरुद्ध लड़ाई में सरकार के साथ मिल कर काम करें. सतर्क रहें, जागरूक रहें.”

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के खिलाफ देश की लड़ाई में उत्तर प्रदेश को भी पूर्ण रूप से सहभागी बनना है. इसीलिये आज 16 जनपदों के पूर्ण लॉकडाउन का निर्णय लिया गया. मेरी प्रदेश वासियों से अपील है कि वे 23 करोड़ जनता के स्वास्थ्य और सुरक्षित भविष्य के लिये अपना सहयोग दें. ”

उन्होंने कहा, “सभी से मेरी अपील है कि अपने घरों में रहें. अनावश्यक रूप से बाहर व सार्वजनिक स्थलों पर न निकलें. प्रशासन, पुलिस व स्वास्थ्य विभाग आपकी सेवा के लिये पूरी तत्परता से कार्य कर रहा है.”

उत्तर प्रदेश सरकार ने कोरोना वायरस के प्रकोप के मद्देनजर महत्वपूर्ण कदम उठाते हुए राजधानी लखनऊ समेत 16 जिलों में तीन दिन का ”लॉकडाउन” घोषित किया है.

%d bloggers like this: