शिविरों में थकान मिटा रहे कांवड़िये

Spread the love

बारिश के बीच जोश व उत्साह से लबरेज कई शिवभक्त निकले अगले पड़ाव की ओरगोमुख, ऋषिकेश और हरिद्वार से कांवड़ियों के लौटने का सिलसिला जारी है। शनिवार को कांवड़ियों ने जीटी रोड पर अर्थला के सामने, मोहन नगर, राजेंद्र नगर इंडस्ट्रियल एरिया, साहिबाबाद गांव के पास, लिंक रोड, सब्जी मंडी के सामने, गरिमा गार्डन, पसौंडा में बनाए गए पंडालों में थकान मिटाई। वहीं, बारिश के बीच जोश और उत्साह से लबरेज कई शिवभक्त बोल बम के नारे के साथ मोहन नगर, जीटी रोड और वसुंधरा के रास्ते दिल्ली, हरियाणा व राजस्थान की ओर निकले।

डाक कांवड़ लाने वाले शिवभक्तों ने पंडाल में शिव-पार्वति की सुंदर झांकिया निकालीं और बम भोले के जयकारे लगाए। इस नजारे को देखने के लिए आसपास के लोगों की काफी भीड़ रही। पसौंडा, गरिमा गार्डन और शालीमार गार्डन में ग्रीन बेल्ट पर कांवड़ शिविर लगाए गए हैं। यहां भी कांवड़िए शिव भजनों पर झूमते दिखाई दिए।

8 साल का नन्हे भी डूबा शिवभक्ति में

सौर ऊर्जा मार्ग के कड़कड़ मॉडल में रहने वाला 8 साल का नन्हे भी हरिद्वार से गंगाजल लेकर आया है। उसके पिता ने बताया कि वह शिव मंत्र का जाप व ध्यान करता है। नन्हे की तमन्ना थी कि वह भी हरिद्वार से गंगाजल लाए। नन्हे को यात्रा में तकलीफ नहीं हुई। उसने हरिद्वार से गाजियाबाद की दूरी 18 पड़ाव में तय की।

101 केन से होगा जलाभिषेक

एक कांवड़िये ने बताया कि वह हरिद्वार से 101 छोटी कैन में गंगाजल लाए हैं। वह शिव के 101 मंत्रों व नामों के साथ पूजा अर्चना करते हैं, इसलिए 101 कैन से भोले नाथ को स्नान कराएगा। वहीं, डाक कांवड़ियों का काफिला भी बढ़ने लगा है। मोहन नगर चौराहे पर सिविल डिफेंस के वॉर्डन भी मुस्तैदी से कार्य कर रहे हैं।

निशुल्क उपचार किया

एनबीटी न्यूज, टीएचए : \Bलिंक रोड डाबर चौराहे के पास भारत विकास परिषद की तरफ से कांवड़ शिविर लगाया गया है। कई कांवड़ियों के पैर में छाले पड़ गए हैं। यहां मरहम-पट्टी कर उनका उपचार किया गया। इस दौरान नीना अवस्थी, वैशाली शाखा अध्यक्ष संजय सिंघल, संजीव तायल, रवि शंकर, एसपी तिवारी आदि मौजूद रहे।

%d bloggers like this: