अमेरिका में कोरोना से तीन लाख लोग संक्रमित परेशान ट्रंप

Spread the love

कोरोनावायरस से निपटने के लिए डोनाल्ड ट्रंप ने पीएम मोदी से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए मदद मागी है.

पूरी दुनिया में इस समय खतरनाक कोरोनावायरस से हाहाकार मचा हुआ है. वैसे यह वायारस शुरू तो चीन से हुआ था, लेकिन इस समय इसका सबसे ज्यादा प्रकोप अमेरिका में देखने को मिल रहा है. दुनियाभर में कोरोना वायरस के मामलों पर नजर रख रहे बाल्टीमोर स्थित जॉन्स हॉप्किन्स विश्वविद्यालय ने शनिवार को अमेरिका के चौंकाने वाले आंकड़े जारी किए हैं. इन आंकड़ों के मुताबिक अब तक इस वायरस से अमेरिका में कुल तीन लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हैं, जबकि आठ हजार से अधिक लोग अपनी जान गवां बैठे हैं. कोरोना से परेशान डोनाल्ड ट्रंप ने अब इससे निपटने के लिए भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मदद मांगी है.

अमेरिका में पिछले 24 घंटे में इस वायरस से करीब 1400 से अधिक लोगों ने जान गवाई है और यह आंकड़ा रोज बढ़ता जा रहा है. इससे निपटने के लिए डोनाल्ड ट्रंप ने पीएम मोदी से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए मदद मांगी है. अमेरिकी राष्ट्रपति ने पीएम मोदी से मलेरिया के इलाज में कारगर हाइड्रोक्सीक्लोरीक्वीन टेबलेट पर लगे प्रतिबंध को हटाकर सप्लाई शुरू करने की मांग की है.

बता दें कि भारत सरकार ने पिछले महीने कई तरह की दवाओं के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया था. अमेरिकी राष्ट्रपति ने शनिवार को व्हाइट हाउस में संवादाता सम्मेलन में यह जानकारी दी. उन्होंने कहा कि मैंने भारत के प्रधानमंत्री से मलेरिया की दवाई की सप्लाई करने का अनरोध किया और साथ ही यह भी कहा कि डॉक्टर्स की सलाह पर मैं खुद इस दवाई का सेवन कर सकता हूं.

आपको बता दें कि केंद्र सरकार ने कई फार्मास्युटिकल कंपनियों को दस करोड़ से ज्यादा हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन गोलियों का ऑर्डर दिया है जिसकी सिफारिश आईसीएमआर ने कोविड-19 के खिलाफ काम कर रहे स्वास्थ्यकर्मियों के लिहाज से ऐहतियातन इस्तेमाल के लिए की है. भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने मलेरिया के इलाज में इस्तेमाल होने वाली इस दवाई का इस्तेमाल कोरोना वायरस के रोगियों या संदिग्धों की देखभाल में लगे लोगों के लिए करने की सिफारिश की है. घरों में रह रहे उन लोगों के लिए भी दवा की सिफारिश की गयी है जिनमें बीमारी के लक्षण नहीं हैं लेकिन जो संक्रमितों के संपर्क में आए हैं.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने हाल ही में कोरोना वायरस के संक्रमण से ग्रस्त लोगों के लिए हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन का इस्तेमाल एजिथ्रोमाइसिन के साथ करने की सिफारिश की थी अधिकारी के मुताबिक, ‘‘मलेरिया रोधी दवा हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन की 10.70 करोड़ गोलियों का ऑर्डर दिया गया है. 70 लाख से अधिक टैबलेट पहले ही खरीदी जा चुकी हैं.’’

%d bloggers like this: