बिजली दिये जाने की मांग पर ग्रामीण विकास समिति के बैनर तले हजारों लोगों ने बिजली मुख्यालय मे किया धेराव।

Spread the love

नोएडा, हिन्डन नदी पुसता के साथ-2 बसी दर्जनों कालोनियों के हजारों नागरिकों ने मंगलवार 23 जुलाई 2019 को मुख्य अभियन्ता विद्युत वितरण निगम क्षेत्र नोएडा कार्यालय का घेराव कर धरना प्रदर्शन किया जिसमें बड़ी संख्या में महिलाओं ने भी बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया और प्रदर्शन के माध्यम से ऐलान किया गया कि जब तक बिजली विभाग लिखित में बिजली दिये जाने का आश्वासन नहीं देगा तब तक धरना प्रदर्शन जारी रहेगा प्रर्दशनकारियों के आक्रोश और भारी जनसमूह के दबाव में जिला प्रशासन ने हस्तक्षैप किया और नगर मजिस्टेªट श्री शेलेन्द्र मिश्रा,

मुख्य अभियन्ता विद्युत वितरण निगम नोएडा श्री राकेश राणा आदि उच्च अधिकारी ने ग्रामीण विकास समिति के नेताओं से वार्ता किया समिति के नेताओं ने अधिकारियों को सुझाव दिया कि नेाएडा में 45-50 वर्षो में कोई बाढ़ नहीं आयी है और ना अब आने की सम्भावना है इसलिए नोएडा को डूब क्षेत्र मुक्त घोषित कर बिजली दी जाए दूसरा सुझाव यह भी दिया गया कि हिन्डन नदी पुस्ता बांध को हटाकर अबादी से बाहर स्थानानतरित कर उक्त डूब क्षेत्र की समस्या का समाधान किया जा सकता है और बिजली सहित सभी सुविधाए दी जा सकती है। ग्रामीण विकास समिति के संयोजक गंगेश्वर दत्त शर्मा ने कहा कि सरकार /जिला प्रशासन, नोएडा प्रधिकरण ही नोएडा शाहर में झुग्गी बस्ती या डूब क्षेत्र में आबादी बसने के लिये जिम्मेदार है

यदि नोएडा की स्थापना के समय से ही यहां न्यूनतम वेतन पाने वाले या छोटा-मोटा स्वरोजगार करने वालों की आय के मध्यनजर आवासीय मकान बनाकर देती तो गरीब लोगों की डूब क्षेत्र में बसने की जरूरत नहीं पढ़ती जब लाखों लोगों की आबादी बस चुकी है तो अब उसे हटाया भी नहीं जा सकता और बिजली एक सामाजिक जरूरत है और लोगों का संबैधानिक हक भी है इसलिए सभी लोगों को बिजली दिया जाना जरूरी है।

अधिकारियों से कई दौर की बातचीत के बाद विद्युत वितरण निगम लि0 के मुख्य अभियन्ता श्री राकेश राणा द्वारा बिजली दिये जाने का लिखित आश्वासन देने के बाद आन्दोलन समाप्त हुआ। धरना प्रदर्शन की अध्यक्षता समिति के अध्यक्ष वरिष्ठ मिश्रा ने किया और संचालन समिति के कोषाध्यक्ष दयाशंकर पाण्डे ने किया धरने को किसान सभा के जिला प्रवक्ता डा0 रूपेश वर्मा, जनवादी महिला समिति की नेता आशा यादव, रोमा शर्मा, चन्द्रा वेगम, ममता, सीटू नेता नरेन्द्र पाण्डे, भरत डेजर, लता सिंह, भीखू प्रसाद, ग्रामीण विकास समिति के वरिष्ठ नेता गोबिन्द सिंह, रामजी यादव, श्यामानन्द झा, सत्यप्रकाश, विनोद यादव, नफीस अहमद, लायक हुसैन, किशन चन्द्र झा, राजेन्द्र गोड, निरंजन झा, सुनील दुबे, दिलीप शाह, अनिल झा, राजेश कुमार, गोपी, व्रिज विहारी पर्वत, दुर्गानन्द झा, आविद, वी0वी0 मिश्रा, संतोष झा, विजय मास्टर आदि वाक्ताओं ने सम्बोधित किया। कार्यक्रम को समाप्त करते हुए समिति ने नेताओं धरने प्रदर्शन में शामिल होने के लिये सभी का धन्यवाद किया और ऐलान भी किया गया कि यदि सहमति/आश्वासन के आधार पर उन्हें बिजली नहीं दी गई तो वे फिर 26 अगस्त 2019 को भारी जनसमूह के साथ बिजली कार्यालय का धेराव करेगें।

%d bloggers like this: