CM की हत्या की साजिश थी; ममता बोलीं- व्हीलचेयर पर प्रचार करूंगी

Spread the love

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर बीते दिन हुए कथित हमले का मामला अब चुनाव आयोग पहुंच गया है। TMC नेता डेरेक ओब्रायन, राज्यमंत्री चंद्रिमा भट्‌टाचार्य और पार्थ चैटर्जी मामले की शिकायत करने चुनाव आयोग के दफ्तर पहुंचे। उन्होंने कहा कि घटना के जरिए ममता की हत्या करने की साजिश रची गई थी। वहीं, भाजपा ने भी चुनाव आयोग से मामले की गंभीरता से जांच करने की मांग की।

इस बीच ने ममता ने अस्पताल से ही अपने समर्थकों के लिए एक वीडियो संदेश जारी किया। उन्होंने कहा कि कल के हमले में उन्हें काफी गंभीर चोटें आई हैं, जिसमें हाथ-पैर में काफी दर्द हो रहा है। वो 2-3 दिनों में बाहर आएंगी और व्हीलचेयर के जरिए चुनाव प्रचार करेंगी। उन्होंने पार्टी के समर्थकों से शांत रहने की अपील की। उधर, शिकायत में TMC ने कहा कि चुनाव आयोग (ECI) ने चुनाव कराने के नाम पर राज्य में कानून-व्यवस्था संभाली है। उसकी तरफ से पूरे शासन ढांचे को नियुक्त किया। इसी दौरान राज्य सरकार के चर्चा के बगैर पुलिस महानिदेशक को हटा दिया गया। भाजपा के इशारे पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और नंदीग्राम से उम्मीदवार, जिनके पास जेड प्लस सिक्योरिटी है, को धमकी दी जाती है। ऐसे में चुनाव आयोग पर ही विश्वास कमजोर होता है। तृणमूल ने दावा किया कि हमले के समय न तो अधीक्षक और न ही स्थानीय पुलिस वहां मौजूद थी। केवल ममता के निजी सुरक्षा अधिकारी ही उनके साथ थे। उन्हें पहले से ही ममता पर हमले का शक था, फिर उनकी सुरक्षा में चूक कैसे हुई। इसकी जांच होनी चाहिए।TMC सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने कहा कि 9 मार्च को चुनाव आयोग ने DGP को बदल दिया। 10 मार्च को भाजपा सांसद दिलीप घोष पोस्ट करते हैं कि आप समझ जाएंगे, 5 बजे के बाद क्या होने वाला है और 6 बजे ममता दीदी पर हमला हो जाता है। हम इस घटना की निंदा करते हैं। हम चाहते हैं कि जल्द से जल्द सच्चाई सभी के सामने आ जाए।इसके बाद भाजपा का प्रतिनिधिमंडल भी चुनाव आयोग पहुंचा। सब्यसाची दत्ता और शिशि बजोरिया ने चुनाव आयोग के अधिकारियों ने मुलाकात की। उन्होंने कहा कि मामले की गंभीरता से जांच होनी चाहिए। इससे पहले तृणमूल नेता पार्थ ने भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा था कि कुछ कायर लोग लगातार ममता को रोकने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन वे कामयाब नहीं होंगे। यह हमला एक साजिश थी।

%d bloggers like this: