दोबारा लॉकडाउन लगने से धीमी पड़ सकती है भारत में सुधार की रफ्तार

Spread the love

जापान की ब्रोकरेज कंपनी नोमुरा ने सोमवार को कहा कि गुजरात, दिल्ली, मध्य प्रदेश, गुजरात, हरियाणा और हिमाचल प्रदेश में फिर से लॉकडाउन आर्थिक सुधार की रफ्तार धीमी पड़ सकती है. नोमुरा के मुताबिक, इससे बाजार की गतिविधियों के दोबारा शुरू करने का परिदृश्य चिंताजनक बना रहेगा. नोमुरा ने महामारी के बाद बाजार की गतिविधियों में सुधार को मापने का सूचकांक तैयार किया है.

नोमुरा ने बताया कि 22 नवंबर को समाप्त सप्ताह में सूचकांक ने हल्की सी बढ़त हासिल की है. लेकिन यह अभी भी कोरोना महामारी से पूर्व के स्तर से नीचे है. सूचकांक में एप्पल की स्थिति में तीव्र सुधार देखा गया है जो अंतत: कोरोना से पूर्व के स्तर पर पहुंच गई है. वहीं गूगल में सुधार जारी है. हालांकि बहुत से राज्यों में कोविड-19 के बढ़ते मामलों के चलते स्थानीय लॉकडाउन लगाए जा रहे हैं. इसे लेकर विश्लेषकों में चिंता है.

गौरतलब है कि महाराष्ट्र ने सोमवार को कोविड-19 संक्रमण का ज्यादा सामना कर रहे राज्यों से यात्रा करने वालों के लिए मानक परिचालन प्रोटोकॉल जारी किए. जिन राज्यों में संक्रमण के शुरुआती दिनों में ज्यादा मामले सामने आए थे उन्होंने भी चेतावनी जारी की है कि महामारी की दूसरी लहर सुनामी की तरह आ सकती है और इसके वजह से वह जल्द लॉकडाउन कर सकते हैं.

नोमुरा ने कहा कि वैक्सीन बनाने वाली कंपनियां लगातार इस पर काम कर रही हैं और इसमें प्रगति भी देखी जा रही है. लेकिन इससे कितनी सुरक्षा होगी यह तय नहीं है.

%d bloggers like this: