धौलाना के विधायक असलम चौधरी ने जनता से की शांति बनाए रखने की अपील।

Spread the love

गाजियाबाद डासना मंदिर विवाद को लेकर मिडिया के सुर्खियों में आये धौलाना के विधायक असलम चौधरी नें क्षेत्र के जनता से शांति व्यवस्था को बनाए रखने के लिए अपील की है। मिडिया में उनके वक्तव्य को तोड़मरोड़ कर पेश किया ऐसा कहना है विधायक असलम चौधरी का। उनका मकसद क्षेत्र में शांति व्यवस्था बनाए रखने का था नही कि किसी के दिल को ठेस पहुँचाने का। लेकिन मंदिर जाकर मूर्ति के साथ छेड़छाड़ करने वाले मुस्लिम लड़के पर चुप्पी बरकरार।

गाजियाबाद डासना मंदिर को लेकर लगातार विवाद चल रहा है। विवाद इतना बड़ा है कि सीधे विदेशी मिडिया खासकर गल्फ देशों में दिलचस्पी देखी जा रही है। क्योंकि मामले एक मुस्लिम लड़के को एक हिंदू के द्वारा पिटाई को लेकर है। जिसें एक तरफा सुर्खियों लाया गया और मंदिर में हिंदू आस्था से खिलवाड़ करने वाला आसिफ रातों रात एक स्टार और लाखपति बन गया है। सबसे ज्यादा मामले में बीबीसी और क्वीन्ट में दिलचस्पी दिखाया है। इसके बाद मिडिया वालों के कतार मंदिर के सामने लगना तो स्वभाविक ही था।

जिसे नाबालिग बताया जा रहा है उसनें हिंदू भावनाओं के साथ खिलवाड़ किया। लेकिन उस पर तो विधायक से लेकर मिडिया तक चुप रहती है लेकिन उसका विरोध करने वाले और पिटाई करने वालों को जेल जाना पड़ा। मिडिया के रंग देखते ही नेता भी भटकने लगे। भीम आर्मी से लेकर अल्का लांबा तक कोई कसर नही छोड़ा गया मामले को तूल देने में।

आखिर में क्षेत्र के विधायक असलम चौधरी जी भी कुद ही गये। उन्होंने महंत को गाली दिया। गुण्डा बदमाश और माफिया कह दिया। यहाँ तक कहा कि मंदिर उसके बाप की नही है। चौधरी जी के पूरुखों की है। उन्होंने कई मंदिर बनवाए है और कई मंदिरों में पैसे भी दिए है। एक बात तो भूल ही गया उन्होंने महंत को पिटवाने की बात कहते हुए भी विडियों में नजर आये। अगर क्षेत्र के प्रतिनिधी ही ऐसा करेंगे तो आम जनता को कौन समझायेगा।

लेकिन अब एक नया विडियों उन्होंने खुद से ही टवीटर पर डालकर क्षेत्र के जनता से शांति और भाई चारा बनाए रखने की अपील की है। कल तक महंत को पिटवाने की धमकी देने वाले विधायक जी इतने शांत कैसे हो गये। तब याद आया प्रदेश में योगी की सरकार है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार विधायक असलम चौधरी के ब्यान को लेकर हिंदू संगठनों में काफी रोष है और भारी संख्या में हिंदू संगठन के लोग कल मंदिर बचाने के लिए डासना पहुँचने का आह्वान कर रहे है।

%d bloggers like this: