मध्यप्रदेश में 26 अप्रैल तक सख्ती जारी, CM शिवराज ने दिया नया आदेश…

Spread the love

कोरोना की रोकथाम के लिए मध्यप्रदेश में 26 अप्रैल तक सख्ती जारी रहेगी. इस दोरान CM शिवराज ने अपने 14 मंत्रियों को कोरोना के रोकथाम के लिए दिए हैं ये आदेश…

मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस के प्रसार को देखते हुए 26 अप्रैल तक सख्त नियम लागू हैं, वहीं बुधवार को प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के सबसे ज्यादा 13,107 नए मामले सामने आए हैं और 75 लोगों की मौत हो गई है. इसके साथ ही प्रदेश में इस वायरस से अब तक संक्रमित हुए लोगों की कुल संख्या 4,46,811 और मरने वालों की संख्या 4,788 हो गई है. इसके बाद सीएम शिवराज सिंह चौहान ने अपने 14 मंत्रियों को कोरोना की रोकथाम के लिए मैदान में उतारा गया है.

मध्यप्रदेश में 26 अप्रैल तक कर्फ्यू लागू है. बता दें कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण की रोकथाम के लिए शिवराज सिंह सरकार ने कई सख्त कदम उठाए हैं और राज्य के कई जिलों में कड़ाई से इस सख्त आदेश का पालन किया जा रहा है.

शिवराज ने कोरोना की रोकथाम के लिए मंत्रियों को सौंपी जिम्मेदारी

मुख्यमत्री शिवराज ने कोरोना की रोकथाम के लिए अपने इन मंत्रियों को अलग-अलग जिम्मेदारी सौंपी है.

गोपाल भार्गव को ऑक्सीजन प्लांट निर्माण की जिम्मेदारी और होम आइसोलेट मरीजों को मेडिसिन किट वितरण की मॉनिटरिंग वन मंत्री विजय शाह करेंगे. कोविड केयर सेंटर और ऑक्सीजन प्लांट निर्माण को तय समय सीमा के अंदर पूरा कराने पर नजर रखेंगे.
डॉ महेंद्र सिंह सिसोदिया को ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण का विस्तार रोकने की जिम्मेदारी मिली है, वे गांवों में होम आइसोलेशन और कोविड सेंटर में मरीजों को मेडिकल किट, ब्रोशर के वितरण पर नजर रखेंगे.
ओपीएस भदौरिया, शहरी इलाकों में संक्रमण रोकने के उपाय और सैनिटाइजेशन का काम देखेंगे और शहरी क्षेत्रों में होम आइसोलेशन की व्यवस्था और मेडिकल किट के वितरण पर भी निगाह रखेंगे
भूपेंद्र सिंह को बीना रिफाइनरी के पास बन रहे 1000 बिस्तर के कोविड केयर सेंटर के निर्माण की जिम्मेदारी मिली है.
विजय शाह को होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों को मेडिकल किट के वितरण का काम दिया गया है.
प्रभुराम चौधरी को तीन अन्य मंत्रियों- विजय शाह, भूपेंद्र सिंह और ओपीएस भदौरिया को दी गई जिम्मेदारियों में समन्वय सुनिश्चित करने को कहा गया है.
तुलसी सिलावट को शहर के राधा स्वामी सत्संग परिसर में बन रहे 2000 बिस्तर के अस्पताल के संचालन की जिम्मेदारी दी गई है. वे इस तरह के अन्य कोविड केयर सेंटर का निर्माण भी देखेंगे.
विश्वास सारंग राजधानी में कोविड केयर सेंटर के निर्माण और अस्पतालों में बिस्तर बढ़वाने का काम देखेंगे.
उषा ठाकुर, कोरोना वॉलंटियर अभियान के क्रियान्वयन पर नजर रखेंगी और वॉलंटियर का कोरोना कार्यों में प्रभावी उपयोग कैसे हो, इसकी रणनीति भी बनाएंगी.
बृजेंद्र प्रताप सिंह, प्रदेश में कोविड केयर सेंटर्स में रह रहे मरीजों को मेडिकल किट ब्रोशर का वितरण. चिकित्सा सलाह, योग, प्राणायाम, भोजन आदि की सुविधाएं सुनिश्चित करेंगे.
अरविंद भदौरिया को राज्य के बाहर से ऑक्सीजन की सप्लाई के लिए को-ऑर्डिनेशन की बड़ी जिम्मेदारी दी गई है.
राजवर्धन सिंह दत्तीगांव, औद्योगिक क्षेत्र से ऑक्सीजन की आपूर्ति केैसे हो, इसके लिए प्रयास करेंगे।
राम किशोर कांवरे, काढ़े के वितरण की व्यवस्था और योग से निरोग अभियान पर नजर रखेंगे.
रामखेलावन पटेल, ग्रामीण क्षेत्रों में संक्रमण रोकने की महेंद्र सिंह सिसोदिया को मिली जिम्मेदारी में सहयोग करेंगे.

%d bloggers like this: