समाजसेवी कमलेश कुमार

Spread the love

7 मार्च/पुण्यतिथि

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के वरिष्ठ प्रचारक और गाजियाबाद में समाजसेवा के लिए बेहद प्रतिष्ठत वरदान नेत्र चिकित्सालय के बाद वरदान सुपर स्पेशलिटी अस्पताल के स्थापनाकर्ता कमलेश कुमार को उनके चाहने वाले गाजियाबाद के लिए एक वरदान मानते थे।

कमलेश कुमार की विशेषता यह थी कि वे एक दौर में उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के बड़े और कर्मठ कार्यकर्ताओं में गिने जाते थे। उनके पास पश्चिमी उत्तर प्रदेश के संगठन मंत्री की कमान थी। इसके बाद वे उत्तर प्रदेश भाजपा के कोषाध्यक्ष भी रहे। राजनीति उनको नहीं सुहाई और न ही समाज सेवा के उनके व्रत को रोकने में सफल हो पाई। वे राजनीति की गहमागहमी छोड़कर समाज सेवा में जुट गए। राजनीतिक भागदौड़ के दौरान उन्हें पश्चिमी उत्तर प्रदेंश के नेत्र रोगियों की समस्या समझ में आई थी। इसलिए गाजियाबाद को केन्द्र बनाकर उसके आसपास के गांवों-कस्बों में नेत्र सुरक्षा शिविर लगाने से उन्होंने एक नई शुरूआत की। आज वही बीज एक बड़ा उपक्रम बनकर सबके सामने है, जहां आज भी मात्र 10 रुपये के शुल्क में बड़े से बड़ा आपरेशन तक हो जाता है।

वरदान नेत्र चिकित्सालय एक चैरिटी केन्द्र है तो उसके बाद स्थापित हुए वरदान सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में सब तरह की आधुनिक चिकित्सा उपलब्ध है। गाजियाबाद के समाज सेवियों को साथ जोड़कर कमलेश कुमार ने समाज के गरीब व वंचित वर्ग के लिए चिकिस्सा के क्षेत्र में एक बड़ी सहायता उपलब्ध कराने का सफल कार्य किया। कमलेश जी का निधन 7 मार्च 2020 को गाजियाबाद में हुआ।

%d bloggers like this: