पीएम मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन से की बात, कोरोना टीके के कच्चे माल की सप्लाई को लेकर हुई चर्चा

Spread the love

उन्होंने कहा कि बाइडेन के साथ कोरोना टीके के कच्चे माल की सप्लाई को लेकर हुई चर्चा हुई.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन के साथ टेलीफोन पर बातचीत की. खुद पीएम मोदी ने ट्वीट कर जानकारी दी. उन्होंने कहा कि बाइडेन के साथ कोरोना टीके के कच्चे माल की सप्लाई को लेकर हुई चर्चा हुई. बता दें कि दोनों नेताओं के बीच ये बातचीत ऐसे समय में हुई है जब दोनों ही देश कोरोना के गंभीर संकट से गुजर रहे हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा, “अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के साथ एक उपयोगी बातचीत हुई. हमने दोनों देशों में फैली COVID स्थिति पर विस्तार से चर्चा की. मैंने भारत को संयुक्त राज्य अमेरिका द्वारा प्रदान किए जा रहे समर्थन के लिए राष्ट्रपति बाइडेन को धन्यवाद दिया.” अपने अगले ट्वीट में पीएम मोदी ने लिखा, “हमने चर्चा के दौरान टीका के कच्चे माल और दवाओं की सहज और कुशल सप्लाई के महत्व को रेखांकित किया. भारत-अमेरिका स्वास्थ्य सेवा साझेदारी COVID-19 की वैश्विक चुनौती का समाधान कर सकती है.

व्हाइट हाउस का बयान
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ सोमवार को फोन पर बातचीत के दौरान अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने कोविड-19 वैश्विक महामारी के खिलाफ लड़ाई में भारत की गति से मदद करने का संकल्प लिया. व्हाइट हाउस ने बताया कि बाइडन ने मोदी से कहा कि अमेरिका और भारत कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में निकटता से मिलकर काम करेंगे.

व्हाइट हाउस ने फोन पर हुई बातचीत की जानकारी मुहैया कराते हुए कहा, ‘‘राष्ट्रपति ने कोविड-19 मामलों में हालिया बढ़ोतरी से प्रभावित भारत के लोगों को अमेरिका की ओर से लगातार समर्थन दिए जाने का संकल्प लिया.’’ व्हाइट हाउस ने कहा कि अमेरिका ऑक्सीजन संबंधी आपूर्ति, टीके संबंधी सामग्री और चिकित्सा संबंधी सामग्री समेत आपात सहायता मुहैया करा रहा है.

उसने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री मोदी ने दोनों देशों के बीच मजबूत सहयोग की सराहना की. दोनों नेताओं ने संकल्प लिया कि अमेरिका एवं भारत अपने नागरिकों और अपने समुदायों के स्वास्थ्य की रक्षा के प्रयासों के लिए कंधे से कंधा मिलाकर खड़े रहेंगे.’’ भारत में कोविड-19 की ताजा लहर के बाद दोनों नेताओं ने पहली बार फोन पर बात की है.

गौरतलब है कि अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडेन और उपराष्ट्रपति कमला हैरिस ने भारत को आवश्यक जीवन रक्षक औषधियों और उपकरणों सहित अन्य सभी प्रकार के मदद का आश्वासन दिया था ताकि इस संकट से देश उबर सके. बिडेन ने ट्वीट कर कहा था, ‘‘महामारी की शुरुआत में जब हमारे अस्पताल भर गए थे और जिस प्रकार भारत ने ने हमें सहायता भेजी, उसी प्रकार आवश्यकता की इस घड़ी में भारत को मदद करने को हम प्रतिबद्ध है.’’

बता दें कि इससे पहले अमेरिका ने भारत को आश्वासन दिया है कि वह कोविशील्ड टीका के उत्पादन के लिए जरूरी खास कच्चा माल तत्काल उपलब्ध कराएगा. व्हाइट हाउस के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि बाइडन प्रशासन घातक कोविड-19 लहर के खिलाफ भारत की जंग को मजबूती देने के लिए सभी संसाधनों और आपूर्तियों को भेजने के लिए हर वक्त काम कर रहा है.

भारत में संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 1,73,13,163 हो गई है जबकि उपचाराधीन मरीजों की संख्या 28 लाख को पार कर गई है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा सोमवार सुबह आठ बजे तक अद्यतन की गई जानकारी के अनुसार, संक्रमण से 2,812 लोगों की मौत के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 1,95,123 हो गई है.

%d bloggers like this: