कैलाश समेत 3 अस्पतालों पर 2.83 करोड़ की पेनल्टी

Spread the love

यूपी सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट मॉनिटरिंग कमिटी की रिपोर्ट के आधार पर हुई कार्रवाईगाजियाबाद के 7 अस्पतालों पर भी 8 करोड़ की पेनल्टी लगाई गई है।

\Bबायोमेडिकल वेस्ट\B निस्तारण के नियम का पालन और प्रदूषण नियंत्रण के इंतजाम न करने पर सेक्टर-27 के कैलाश अस्पताल, सेक्टर-119 के मदरलैंड व ग्रेटर नोएडा के शारदा अस्पताल पर 2.83 करोड़ की पेनल्टी लगाई गई है। इसके अलावा गाजियाबाद के 7 अस्पतालों पर भी 8 करोड़ की पेनल्टी लगाई गई है। यूपी सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट मॉनिटरिंग कमिटी की रिपोर्ट के आधार केंद्रीय प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड ने अस्पतालों पर यह कार्रवाई की है। कमिटी ने एनजीटी को सौंपी रिपोर्ट में यह सिफारिश की है कि अगर सभी अस्पतालों की जांच कराई जाए तो उनमें भी हालात बदतर मिलेंगे।

बता दें कि 12 से 14 जून तक यूपी सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट मॉनिटरिंग कमिटी के अध्यक्ष जस्टिस डी.पी. सिंह और उनकी टीम ने नोएडा, गाजियाबाद और ग्रेटर नोएडा का निरीक्षण किया था। निरीक्षण के बाद उन्होंने रिपोर्ट जारी की थी। इस रिपोर्ट में कहा गया था कि इंडस्ट्री और अस्पतालों से निकलने वाले खतरनाक वेस्ट का निस्तारण न होने की वजह से 30-35 प्रतिशत तक कैंसर, अस्थमा आदि बीमारियों के मरीज बढ़ रहे हैं। वहीं, कचरा प्रबंधन के इंतजामों में पूरी तरह फेल गाजियाबाद पर 49 लाख और ग्रेटर नोएडा पर 3 करोड़ की पेनल्टी लगाई गई थी। अब कमिटी की रिपोर्ट के आधार पर पर्यावरणीय क्षतिपूर्ति के मामले में केंद्रीय प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड ने जिले के 3 अस्पतालों पर पेनल्टी की कार्रवाई की है। 1.34 करोड़ की पेनल्टी कैलाश पर, 1.05 करोड की मदरलैंड और 44 लाख की पेनल्टी ग्रेटर नोएडा के शारदा अस्पताल पर लगाई गई है।

\Bयह है रिपोर्ट में\B

रिपोर्ट में कहा गया है कि इन अस्पतालों में एसटीपी/ईटीपी का संचालन नहीं किया जा रहा है। बायोमेडिकल वेस्ट का सेग्रीगेशन नहीं मिला और न ही उसके उचित निस्तारण की कोई उचित व्यवस्था मिली है। अस्पताल से निकलने वाले कई प्रकार के वेस्ट की जांच में मानक से कई गुना ज्यादा खतरनाक केमिकल पाए गए हैं। कई तरह के वेस्ट खुले में फेंके जा रहे हैं। नालियों में भी वेस्ट बहता हुआ पाया गया है।

\Bइंडस्ट्रियल वेस्ट व बायोमेडिकल वेस्ट हैं सबसे खतरनाक

\Bसीएसई (साइंस एंड सेंटर ऑफ एन्वायरनमेंट) की रिपोर्ट के मुताबिक इंडस्ट्रियल वेस्ट और बायोमेडिकल वेस्ट पर्यावरण और हेल्थ के लिए सबसे ज्यादा खतरनाक माना जाता है। खुले में इसे बहाने से आबोहवा जहरीली होने के साथ ही ग्राउंड वॉटर भी जहरीला होता है। इन्फेक्शन से लेकर कैंसर, अस्थमा इन सबके बढ़ने की सबसे बड़ी वजह यही है।

%d bloggers like this: