दिल्ली सिंधू बार्डर पर चल रहे किसान आंदोलन को मिला सेवानिवृत सीआरपीएफ का समर्थन।

Spread the love

किसान बिल को लेकर महीनों से चल रहे किसान आंदोलन को अब 100 से ज्यादा रिटायर्ड सैनिकों का समर्थन मिला है। एक प्रतिनिधी मंडल का सिंधू बार्डर का दौरा किया जिसमें 100 से ज्यादा अलग अलग रैंक के से सेवानिवृत अधिकारी और आफिसर शामिल हुए। इस प्रतिनिधी मंडल का नेतृत्व श्री ए एस सिंद्धू, सेवानिवृत आईजी सीआरपीएफ ने किया।

श्री सिंदधू ने महीनों से हार कपाती ठंढ में बैठे लगभग 50 हजार किसानों के संबोधित किया। उन्होने अपने मांग में सरकार से तीनों कृषि बिलों को निरस्त करने की मांग की। सभी प्रतिनिधी मंडल के तरफ से किसानों के समर्थन जारी रहने का आश्वासन दिया। इस अवसर पर धरना पर बैठे किसानों के मुलभूत आवश्यकता वाले सामाग्री का भी वितरण किया। जिसमें कंबल, शाॅल, वुलन अंडर गार्मेंट , मेडिसिन, ईटेबल्स दान दिये। दिल्ली के आंदोलन के दौरान मारे गए किसानों के लिए नकद राशी भी प्रदान किया।

बता दे कि अभी तक किसान बिल को लेकर चल रहे धरना को लेकर 7 दौर की बातचीत हो चुके है लेकिन सरकार और किसान दोनों अपने-अपने जगह से हिलने को तैयार नही है। एक तरफ जहाँ पंजाब के किसान बिल को वापसी की मांग कर रहे है वही दूसरी तरफ सरकार उसमें संशोधन करना चाहती है। कई मुद्दों पर सहमति बनती दिख रही है लेकिन किसानों के द्वारा एक ही मांग पर अड़ने वाली रवैया से बातचीत में विघन पड़ रहा है। दूसरी तरफ किसानों के नाम पर तथाकथित कुछ नशेरी और हरामखोर गुट किसानों को बदनाम करने के लिए तोड़फोड़ और लुट-पाट भी शुरु कर दिया है। जिसके तहत पंजाब मे 1700 से ज्यादा टावरों को नुकसान पहुँचााये गये है।

%d bloggers like this: