कोविड संबंधी गतिविधियों के संदर्भ में एनवाईकेएस और एनएसएस के युवा स्‍वयंसेवकों ने 6.47 करोड़ नागरिकों तक पहुंच बनाई

Spread the love
वर्षांत समीक्षा – युवा मामलों का विभाग

कोविड संबंधी गतिविधियों के संदर्भ में एनवाईकेएस और एनएसएस के युवा स्‍वयंसेवकों ने 6.47 करोड़ नागरिकों तक पहुंच बनाई

पोषण अभियान के तहत नेहरू युवा केन्‍द्र संगठन ने एक लाख से ज्‍यादा पोषण सम्‍बन्‍धी गतिविधियां चलाईं
नेहरू युवा केन्‍द्र संगठन/एनएसएस ने ‘एक भारत श्रेष्‍ठ भारत’ के विषय में पिछले 7 महीनों में 67 वेबिनार आयोजित किए

संविधान दिवस पर संवैधानिक मूल्‍यों के संदर्भ में आयोजित वेबिनारों/वार्ताओं में 81,473 गांवों के 4.27 लाख युवा स्‍वयंसेवकों ने भागीदारी की  

लाखों युवा स्‍वयंसेवकों ने फिट इंडिया अभियान के तहत देशभर में विभिन्‍न गतिविधियां आयोजित कीं

वर्ष 2020 के दौरान युवा मामलों के विभाग द्वारा आयोजित प्रमुख कार्यक्रम इस प्रकार हैं –

जन आंदोलन- कोविड-19 से निपटने के लिए व्‍यवहार के उ‍चित नियमों के पालन के संबंध में जागरूकता और शिक्षा  

कोविड के दौरान बुजुर्गों और दिव्‍यांगों की देखभाल

कोविड-19 महामारी के प्रसार पर काबू पाने के लिए व्‍यवहार में लाये जाने वाले जरूरी उचित नियमों का लोगों द्वारा पालन सुनिश्चित करना। इस संदर्भ में नेहरू युवा केन्‍द्र संगठन (एनवाईकेएस) और राष्‍ट्रीय सेवा योजना (एनएसएस) ने कोविड-19 से निपटने के लिए व्‍यवहार में लाये जाने वाले जरूरी उचित नियमों के संबंध में जागरूकता और शिक्षा देने के लिए जन आंदोलन शुरू किए, ताकि लोगों को इस संबंध में जानकारी देने के साथ-साथ इस बारे में प्रेरित किया जा सके। प्रधानमंत्री ने पिछले 7-8 महीनों में अपने ‘मन की बात’ कार्यक्रमों में इस मामले में एनएसएस और नेहरू युवा केन्‍द्र संगठन की भूमिका की प्रशंसा की।

‘कोविड योद्धाओं के संबंध में सरकार की वेबसाइट “covidwarriors.gov.in” में दर्ज 1.59 करोड़ योद्धाओं में से 60 लाख से ज्‍यादा योद्धा युवा मामलों के विभाग से संबद्ध हैं। नेहरू युवा केन्‍द्र संगठन और एनएसएस के स्‍वयंसेवकों ने घरों में फेस मास्‍क पहनने और उसके उचित इस्‍तेमाल, सामाजिक दूरी का पालन करने, स्‍वच्‍छता बनाए रखने के लिए हाथ धोने, बीमारी के बारे में भ्रांतियों, मिथकों और गलत धारणाओं को दूर करने, बीमारी से लड़ने की क्षमता बढ़ाने के लिए आयुष उपाय करने, लोगों को कोविड-19 की जांच कराने के लिए प्रोत्‍साहित करने और उन्‍हें आरोग्‍य सेतु ऐप डाउनलोड करने और उसका इस्‍तेमाल करने के लिए प्रेरित करने के लिए 6.47 करोड़ नागरिकों तक विभिन्‍न गतिविधियों के माध्‍यम से पहुंच बनाई।

कुछ  गतिविधियों का विवरण : –    

  • स्‍वयंसेवकों ने 2.19 करोड़ लोगों को आरोग्‍य सेतु ऐप डाउनलोड करने के लिए प्रेरित किया।
  • 61.35 लाख स्‍वयंसेवकों ने “covidwarriors.gov.in” में नाम दर्ज कराया।
  • 1.46 करोड़ नागरिकों को घर पर फेस मास्‍क बनाने के लिए प्रशिक्षित किया गया।
  • 22.78 लाख बुजुर्ग लोगों को कोविड-19 के संदर्भ में संरक्षण और देखभाल मुहैया कराई गई।
  • 7.39 लाख दिव्‍यांगों तक इस अवधि के दौरान पहुंच बनाई गई और उन्‍हें देखभाल मुहैया कराई गई/
  • कोविड-19 महामारी के दौरान स्‍वयंसेवकों में 19 लाख और लोग शामिल हुए।
  • 62 लाख से ज्‍यादा स्‍वयंसेवकों को आईजीओटी/एमओएचएफडब्‍ल्‍यू/डब्‍ल्‍यूएचओ/एनसीडीसी मॉडयूल्‍स का प्रशिक्षण दिया गया।
https://i1.wp.com/static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image0016L9Y.jpg?w=1110
https://i2.wp.com/static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image002M6X9.jpg?w=1110
Description: C:\Users\HP\Downloads\IMG-20201208-WA0001.jpg
Description: C:\Users\HP\Downloads\IMG-20201208-WA0012.jpg
Description: C:\Users\HP\Downloads\IMG-20201208-WA0000.jpg

एनएसएस स्‍वयंसेवकों द्वारा फेस मास्‍क का वितरण

Description: C:\Users\HP\Desktop\downloads\IMG-20200908-WA0004.jpg
Description: C:\Users\HP\Desktop\downloads\IMG-20200908-WA0005.jpg
Description: C:\Users\HP\Desktop\downloads\IMG-20200828-WA0042.jpg

एनएसएस स्‍वयंसेवक परीक्षा केन्‍द्रों पर हैंड सेनिटाइजेशन अभियान चलाते हुए

भारत के राष्‍ट्रपति ने वर्जुअल माध्‍यम से नेशनल सर्विस स्‍कीम (एनएसएस) पुरस्‍कार प्रदान किए :

राष्‍ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद ने 24 सितंबर, 2020 को नई दिल्‍ली स्थित राष्‍ट्रपति भवन में वर्ष 2018-19 के लिए एनएसएस पुरस्‍कार प्रदान किए। केन्‍द्रीय खेल एवं युवा मामलों के मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार) श्री किरेण रिजिजू ने विज्ञान भवन से इस समारोह में भागीदारी की। वर्ष 2018-19 के लिए एनएसएस पुरस्‍कार 42 विजेताओं को तीन अलग-अलग श्रेणियों – विश्‍वविद्यालय/+2 परिषद, एनएसएस इकाइयों और उनके कार्यक्रम अधिकारियों तथा एनएसएस स्‍वयंसेवकों – को दिए गए।

https://i2.wp.com/static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image0016TLK.jpg?w=1110&ssl=1

नेहरू युवा केन्‍द्र संगठन (एनवाईकेएस) ने संविधान दिवस मनाया: युवा मामलों के विभाग के अंतर्गत नेहरू युवा केन्‍द्र संगठन ने 26 नवम्‍बर, 2020 को संविधान दिवस का आयोजन किया, जिसमें संविधान के बुनियादी सिद्धांतों और उसकी आत्‍मा, मौलिक कर्तव्‍यों और डॉ. बी.आर. अम्‍बेडकर के जीवन और कार्यों जैसे विषयों पर चर्चा की गई। एनवाईकेएस ने राष्‍ट्रीय युवा स्‍वयंसेवकों, युवा नेताओं और देशभर के युवा क्‍लब के सदस्‍यों के साथ संविधान दिवस युवा क्‍लब गति‍विधियां आयोजित कीं। इनके तहत 81,473 गांवों के 4.27 लाख युवा स्‍वयंसेवकों ने संविधान के मूल्‍यों और मौलिक कर्तव्‍यों के संबंध में आयोजित वेबिनारों/वार्ताओं में भागीदारी की। संविधान दिवस के समर्थन में वेब ऐप्‍स पर 7,304 पोस्‍ट और 27,756 चित्र डाले गए, मेरा कर्तव्‍य के संबंध में 30,769 पोस्‍ट डाले गए, जिन्‍हें 2.76 लाख लोगों द्वारा शेयर किया गया, 15,680 लोगों ने उसे बज़ किया या उनका सार्वजनिक रूप से प्रचार किया गया।

इस अभियान में 8.80 लाख युवाओं और अन्‍य हितधारकों ने भागीदारी की, 18,523 युवाओं ने इस अवसर पर आयोजित 661 पेंटिंग प्रतिस्‍पर्धाओं में भागीदारी की, 964 विशेषज्ञों ने संविधान और श्री बी.आर. अम्‍बेडकर जी के जीवन के विषय में अपने वक्‍तव्‍य दिए, जिनमें 28,149 युवाओं ने भागीदारी की, नारे लिखने की 1,326 प्रतिस्‍पर्धाएं हुईं, जिनमें 25,236 युवाओं ने भाग लिया, 144 ऑनलाइन क्विज़ कार्यक्रम हुए, जिसमें 1,927 युवाओं ने भाग लिया, 205 रक्‍तदान कार्यक्रम हुए, जिनमें 14,759 युवाओं ने भाग लिया, मौलिक कर्तव्‍यों के विषय में संविधान की प्रस्‍तावना लिखी 615 प्रीएम्‍बल वॉल्‍स बनाई गईं। इन सभी कार्यक्रमों में कुल मिलाकर 35.61 लाख नागरिकों ने भागीदारी की।

2020-11-26 18:37:41.201000
https://i2.wp.com/static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image010R5A9.jpg?w=1110
https://i0.wp.com/static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image012S486.jpg?w=1110

फिट इंडिया अभियान –

नेहरू युवा केन्‍द्र संगठन ने देश के ज्‍यादा से ज्‍यादा लोगों के बीच ‘फिट इंडिया’ अभियान का आयोजन किया, ताकि युवाओं और ग्रामीणों को इस बात के लिए शिक्षित और प्रेरित किया जा सके कि वे प्रतिदिन आधा घंटा फिटनेस के लिए दें। इस अभियान का विवरण इस प्रकार है :-

फिट इंडिया मूवमेंट यूथ क्‍लब रजिस्‍ट्रेशन : 

भारत सरकार के खेल एवं युवा मामलों के मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार) श्री किरेण रिजिजू ने 15 अगस्‍त, 2020 को वेबकास्‍ट के माध्‍यम से फिट इंडिया मूवमेंट यूथ क्‍लब रजिस्‍ट्रेशन का शुभारंभ किया। इस कार्यक्रम को 96,790 गांवों के 21,80,700 युवाओं ने देखा।

फिट इंडिया फ्रीडम रन : इसका आयोजन जिला नेहरू युवा केन्‍द्रों द्वारा 15 अगस्‍त, 2020 को किया गया। इसका उद्देश्‍य लोगों में फिटनेस को लोकप्रिय बनाना और देशभक्ति की भावना बढ़ाना था। नेहरू युवा संगठन फील्‍ड अधिकारियों, कोविड योद्धाओं, नेहरू युवा केन्‍द्र संगठन से संबद्ध यूथ क्‍लबों, गंगादूतों और एनडीआरएफ द्वारा प्रशिक्षित युवा स्‍वयंसेवकों तथा अन्‍य समेत कुल 5,07,560 लोगों ने इस दौड़ में हिस्‍सा लिया और 10,15,120 किलोमीटर की दूरी तय की।

फिट इंडिया यूथ क्‍लब रजिस्‍ट्रेशन : फिट इंडिया वेबसाइट www.fitindia.gov.in पर 49,635 नेहरू युवा केंद्र संगठन युवा क्‍लबों और फिट इंडिया युवा क्‍लबों का पंजीकरण किया गया।

फिट इंडिया वार्ता – प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने 24 सितंबर, 2020 को फिट इंडिया मूवमेंट की पहली वर्षगांठ के अवसर पर देशभर के फिट इंडिया विशेषज्ञों और प्रचारकों के साथ संवाद किया। उन्‍होंने इस ऑनलाइन वार्ता के दौरान ‘फिट इंडिया एज एप्रोप्रिएट फिटनेस प्रोटोकॉल्‍स’ की शुरुआत की।  9.11 लाख लोग इस कार्यक्रम के साक्षी बने।

जिला नेहरू युवा केन्‍द्रों ने 51,588 प्रभात फेरियां आयोजित कीं, जिसमें 13.09 लाख राष्‍ट्रीय युवा स्‍वयंसेवकों, युवा क्‍लबों के सदस्‍यों तथा समाज के विभिन्‍न तबकों के अन्‍य लोगों ने भागीदारी की। 2.74 लाख युवा स्‍वयंसेवकों ने फिट इंडिया पोर्टल पर पंजीकरण करवाया, ‘न्‍यू इंडिया फिट इंडिया’ पर 82,736 हैशटैग इंप्रेशन आए।

फिट इंडिया अभियान के संदेश को बढ़ावा देने के लिए जिला स्‍तरीय नेहरू युवा केन्‍द्रों ने 25,690 साइक्‍लोथॉन का आयोजन किया। 7 से 31 दिसंबर, 2020 के बीच आयोजित इन कार्यक्रमों में नेहरू युव केन्‍द्र संगठन से जुड़े यूथ क्‍लबों के स्‍वयंसेवकों ने सक्रिय भागीदारी की। इसके अलावा समाज के विभिन्‍न तबकों से आए 11.56 लाख युवाओं ने इस कार्यक्रम में भागीदारी की और 67.05 लाख किलोमीटर की दूरी तय की।

https://i2.wp.com/static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image01340TZ.jpg?w=1110
https://i0.wp.com/static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image014OX02.jpg?w=1110
https://i2.wp.com/static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image015GU4K.png?w=1110

पोषण अभियान

पोषण अभियान के तहत नेहरू युवा केन्‍द्रों ने 1 लाख से ज्‍यादा पोषण संबंधी गतिविधियां चलाईं : 1 सितंबर, 2020 से शुरू हुए पोषण माह के दौरान खेल एवं युवा मामलों के मंत्रालय ने विभिन्‍न गतिविधियां अयोजित कीं। पोषण माह मनाने का उद्देश्‍य देशभर में पोषण संकेतकों में सुधार लाने के लिए प्रेरित करना था। युवा मामलों के विभाग का नेहरू युवा केंद्र संगठन पिछले दो साल से सितंबर महीने में देशभर में राष्‍ट्रीय पोषण माह का आयोजन कर रहा है।

राष्‍ट्रीय पोषण माह के अंतर्गत जिला स्‍तरीय नेहरू युवा केन्‍द्रों ने नेशनल यूथ वॉलेंटियर्स (एनवाईवी), यूथ क्‍लबों के सदस्‍यों, कोविड योद्धाओं, गंगादूतों और अन्‍य राष्‍ट्रीय युवा स्‍वयंसेवकों को इस बात के लिए प्रेरित किया कि वे ग्रामीणों को कुपोषण, स्‍तनपान की महत्‍ता, जिला प्रशासन की मदद से किचन गार्डन बनाने, आंगनवाडियों और आशा कार्यकर्ताओं को इसके प्रभावी अनुपालन के बारे में जानकारी दें। पोषण माह के दौरान कुल 1,04,421 कार्यक्रम आयोजित किए गए, जिनमें 51,02,912 युवाओं और ग्रामीणों ने भाग लिया। अलग-अलग विद्वानों के समर्थन से 1125 वेबिनार आयोजित किए गए, जिनमें कुपोषण, खासतौर से महामारी के दौरान और उसके बाद बेहद कुपोषित बच्‍चों के बारे में पोषण विशेषज्ञों से संवाद आयोजित किया गया। इस संबंध में सर्वोत्‍तम कार्यों और ऐसे मामलों की चर्चा की गई, जिनमें सफलता प्राप्‍त की गई हो।

https://i1.wp.com/static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image003MLZN.jpg?w=1110&ssl=1

पोषण माह 2020 के अवसर पर पहचान की गई गतिविधियां:

  • गंभीर रूप से कुपोषित (एसएएम से ग्रस्‍त) बच्‍चों की पहचान करना और उनको ट्रैक करना और किचन गार्डन को बढ़ावा देने के लिए पौधा रोपण अभियान चलाना।
  • डिजिटल मंचों के जरिये गंभीर रूप से कुपोषित/एसएएम बच्‍चों की तत्‍काल पहचान करने के लिए युवा स्‍वयंसेवक समूहों जैसे एनवाईएसके को समुदायों के आधार पर संवेदनशील बनाना और शामिल करना।
  • फिट इंडिया अभियान के साथ-साथ एफएसएसएआई के समन्‍वय में भोजन की गुणवत्‍ता के बारे में डिजिटल तौर पर संवेदनशील बनाना।
  • इसके अतिरिक्‍त कुपोषण, स्‍वच्‍छता एवं साफ-सफाई और आहार संबंधी विविधता के संतुलन की महत्‍ता के बारे में जानकारी देना।
  • संबद्ध परिसरों और कैंपसों में पोषण बागीचे स्‍थापित करने को प्रोत्‍साहित करना।

एनएसएस, एनसीसी, एनवाईकेएस स्‍वयंसेवियों और उन्‍नत भारत अभियान के जरिये राष्‍ट्रीय शिक्षा नीति के बारे में जागरूकता बढ़ाने के‍ लिए राष्‍ट्रीय वेबिनार : शिक्षा मंत्रालय ने राष्‍ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए एनएसएस, एनसीसी, एनवाईकेएस, उन्‍नत भारत अभियान (यूबीए) स्‍वयंसेवकों के जरिए राष्‍ट्रीय वेबिनार आयोजित किए। ये वेबिनार 16 सितम्‍बर, 2020 को शिक्षक पर्व पहल के अंतर्गत आयोजित किये गये। राष्‍ट्रीय कै‍डेट कोर (एनसीसी), राष्‍ट्रीय सेवा योजना (एनएसएस), नेहरू युवा केन्‍द्र संगठन और उन्‍नत भारत अभियान के देशभर में फैले स्‍वयंसेवक इन वेबिनारों में वर्चुअल माध्‍यम से शामिल हुए।   

IMG_20200916_134058-2869x2118.jpg

राष्‍ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के महत्‍वपूर्ण बिंदुओं के बारे में जानकारी का प्रसार करना : छात्रों, अभिभावकों, ग्राम पंचायतों और समुदायों में राष्‍ट्रीय शिक्षा नीति के महत्‍वपूर्ण बिन्‍दुओं के प्रसार के लिए एनवाईकेएस को जिम्‍मेदारी दी गई। एनवाईकेएस ने इस गतिविधि के अंतर्गत नई शिक्षा नीति 2020 पर प्रधानमंत्री के मुख्‍य भाषण के वीडियो को व्‍हाट्सएप और वेबिनार पर शेयर किया, शिक्षकों, अभिभावकों, समुदाय और पीआरआई के सदस्‍यों की भूमिका के बारे में बताया, परिवारों तक पहुंच बनाई, बच्‍चों के घरों तक पठन सामग्री पहुंचाने में शिक्षकों की सहायता की, बच्‍चों के घरों के आस-पास रहने वाले स्‍वयंसेवकों द्वारा छोटे बच्‍चों को पढ़ाने जैसी गतिविधियां भी आयोजित कीं। इस दौरान कुल 3.90 करोड़ नागरिकों को नई शिक्षा नीति 2020 के प्रमुख बिन्‍दुओं के बारे में जानकारी मुहैया कराई गई।

https://i0.wp.com/static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image018T912.png?w=1110
https://i2.wp.com/static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image019YJIK.jpg?w=1110

राष्‍ट्रीय स्‍वच्‍छता केन्‍द्र का उद्घाटन और गंदगी मुक्‍त भारत अभियान की शुरुआत : एनवाईकेएस के बहुत से अधिकारी और युवा क्‍लबों के सदस्‍य राष्‍ट्रीय स्‍वच्‍छता केन्‍द्र के 8 अगस्‍त, 2020 को हुए उद्घाटन समारोह के साक्षी बने। इस अवसर पर सप्‍ताह भर का गंदगी मुक्‍त भारत अभियान भी शुरू किया गया। गंदगी मुक्‍त भारत अभियान के अंतर्गत एनवाईकेएस ने एकल इस्‍तेमाल वाले प्‍लास्टिक को एकत्र करने और उसे छांटने, श्रमदान/सार्वजनिक इमारतों की सफाई, एसबीएम के संदेशों को दीवारों पर लिखने, श्रमदान और पौधा रोपण, ऑनलाइन पेंटिंग प्रतिस्‍पर्धा, साफ-सफाई एवं स्‍वच्‍छता अभियान तथा शौचालयों का निर्माण/मरम्‍मत के काम किए। इसके तहत 3.41 लाख गतिविधियां चलाई गईं, जिनमें 95.13 लाख युवाओं ने भाग लिया।

https://i1.wp.com/static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image020043P.jpg?w=1110
https://i1.wp.com/static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image0212J6W.jpg?w=1110
https://i1.wp.com/static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image02261HV.jpg?w=1110

‘एक भारत श्रेष्‍ठ भारत’ कार्यक्रम (ईबीएसबी) 2020-21 वेबिनार (वर्चुअल माध्‍यम से) : युवा मामलों के विभाग ने ‘एक भारत श्रेष्‍ठ भारत’ का संदेश प्रसारित करने में मुख्‍य भूमिका निभाई। एनवाईकेएस/एनएसएस ने पिछले 7 महीनों में 67 वेबिनार आयोजित किए, जिसमें 1.50 युवाओं ने भाग लिया। ये वेबिनार ‘एक भारत श्रेष्‍ठ भारत’ के सभी पहलुओं जैसे – संस्‍कृति, पर्यटन, खान-पान की आदतें, विविध प्रकार के नृत्‍य, भाषाएं, रीति-रिवाज आदि विषयों पर आयोजित किये गये। इसके अलावा एनवाईकेएस ने इतिहास, संस्‍कृति, सांस्‍कृतिक महत्‍व के स्‍थानों, पर्यटन, खान-पान और भाषाओं को सीखने से जुड़े विषयों पर भी वेबिनार आयोजित किये। इन वेबिनारों में देश के सभी राज्‍यों/केन्‍द्रशासित प्रदेशों के 14,398 युवाओं ने हिस्‍सा लिया।

घर में फेस मास्‍क बनाने और उनके सही इस्‍तेमाल, सामाजिक दूरी का पालन करने, स्‍वच्‍छता के लिए हाथ धोते रहने, बीमारी के बारे में भ्रांतियों, मिथकों और गलत अवधारणाओं को दूर करने, रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले आयुष उपायों को बढ़ावा देने, लोगों को कोविड-19 की जांच कराने के लिए प्रोत्‍साहित करने और आरोग्‍य सेतु ऐप को डाउनलोड करने तथा उसका इस्‍तेमाल करने के लिए प्रोत्‍साहित करने के अभियान भी चलाए गए।

https://i0.wp.com/static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image0231BM8.jpg?w=1110
https://i0.wp.com/static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image024GY8A.jpg?w=1110
https://i0.wp.com/static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image0255XVJ.jpg?w=1110
https://i0.wp.com/static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image026FDXG.jpg?w=1110

नमामि गंगे कार्यक्रम में युवाओं की भागीदारी : एनवाईकेएस गंगा की सफाई के राष्‍ट्रीय अभियान के साथ काम कर रहा है और इसके अंतर्गत चार राज्‍यों के 29 जिलों के गंगा नदी से लगने वाले गांवों में साफ-सफाई तथा स्‍वच्‍छता के बारे में जागरूकता फैला रहा है।

  • क्षेत्रीय स्‍तर पर 18 से 20 नवम्‍बर, 2020 को तीन दिन का एक प्रशिक्षण कार्यक्रम सह-कार्यशाला आयोजित की गई, जिसमें जिला परियोजना अधिकारियों (डीपीओ) और परियोजना सहायकों को शिक्षा तथा गंगा नदी की सफाई के बारे में जागरूकता पैदा करने का प्रशिक्षण दिया गया। परियोजना को लागू करने की योजना बनाने, परियोजना के बारे में समझदारी बढ़ाने, परियोजना के वित्‍तीय पक्ष का प्रबंधन करने और भाषणों, प्रेरक वार्ताओं, आईईसी सामग्रियों, नारों, नुक्‍कड़ नाटकों के जरिये युवाओं को प्रदूषण के बारे में जागरूक कर गंगा नदी को स्‍वच्‍छ बनाने के लिए प्रोत्‍साहित किया गया।
  • ऑनलाइन आयोजित राष्‍ट्रीय पेंटिंग चैंपियनशिप में 1,140 लोगों ने भाग लिया। कालांतर आर्ट ट्रस्‍ट द्वारा एनएमसीजी के सहयोग से 5 सितम्‍बर से 2 अक्‍टूबर, 2020 तक ‘कालांतर 2020’ नाम की इस चैंपियनशिप का आयोजन किया गया।
  • 2 से 4 नवम्‍बर, 2020 को वर्चुअल मंच पर गंगा उत्‍सव 2020 का आयोजन किया गया। इसमें गंगा आरती, नुक्‍कड़ नाटक, सफाई अभियान, गंगा क्विज़ आदि जैसी 1635 गति‍विधियां आयोजित की गईं, जिनमें 39,676 लोगों ने भाग लिया।
  • वाइल्‍ड लाइफ इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंडिया-पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय ने एक ऑनलाइन प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया, जिसमें जिला परियोजना अधिकारियों को नदी और उसकी जैव विविधता के मुद्दों पर जानकारी दी गई। यह कार्यक्रम 6-7 अक्‍टूबर, 2020 को आयोजित किया गया।
  • परियोजना के तहत अप्रैल से दिसंबर, 2020 तक 3.28 लाख पौधों का रोपण किया गया। 2,569 जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किये गये और 1,456 सफाई अभियान चलाए गए।

श्री किरेण रिजिजू ने राज्‍यों का आह्वान किया कि वे एनवाईकेएस और एनएसएस स्‍वयंसेवकों के जरिये आत्‍मनिर्भर भारत के बारे में जानकारी का प्रसार करें : केन्‍द्रीय खेल एवं युवा मामलों के मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार) श्री किरेण रिजिजू ने 18 राज्‍यों और केन्‍द्रशासित प्रदेशों के खेल एवं युवा मामलों के मंत्रियों और वरिष्‍ठ अधिकारियों से 14 जुलाई, 2020 को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये बातचीत की। यह बैठक उस दो दिवसीय सम्‍मेलन के पहले हिस्‍से के तौर पर की गई, जिसमें सभी राज्‍यों और केन्‍द्रशासित प्रदेशों को कोविड-19 के बाद खेलों को पुन: शुरू करने के अपने रोडमेप के बारे में और राज्‍य स्‍तर पर विभिन्‍न योजनाओं को बढ़ावा देने के लिए नेहरू युवा केन्‍द्र संगठन तथा एनएसएस के ज्‍यादा से ज्‍यादा स्‍वयंसेवकों को शामिल करने के बारे में जानकारी देनी है।

https://i1.wp.com/static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image002IEP8.jpg?w=1110&ssl=1

****ॉ



%d bloggers like this: