महाराष्ट्र में संपूर्ण लॉकडाउन नहीं, लेकिन आज रात से कड़ी पाबंदियां, जानें क्या हैं नए प्रतिबंध

Spread the love

महाराष्ट्र में संपूर्ण लॉकडाउन नहीं लगाया गया है, लेकिन नियम पिछले साल लगे लॉकडाउन की तरह ही सख्त हैं.

देश में कोरोना का कहर जारी है. कोरोना से सबसे ज्यादा बेहाल महाराष्ट्र है. कोरोना से बचाव के लिए महाराष्ट्र सरकार ने गुरुवार को कई और सख्त पाबंदियों की घोषणा की. उम्मीद की जा रही थी कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे संपूर्ण लॉकडाउन (Complete Lockdown) का ऐलान करेंगे हालांकि उन्होंने कड़ी पाबंदियां लगाई हैं. महाराष्ट्र सरकार की तरफ से जारी ताजा पाबंदियों के अनुसार, निजी ऑफिसों को 15% क्षमता के साथ खोलने की मंजूरी दी गई है है. वहीं, विवाह समारोह में मेहमानों की संख्‍या 25 तक सीमित कर दी गई है. पब्लिक ट्रांसपोर्ट का उपयोग सरकारी कर्मचारियों, मेडिकल प्रोफेशनल्‍स और जिन्‍हें इलाज की जरूरत है सिर्फ उनके लिए रिजर्व कर दिया गया है.

नई पाबंदियां आज यानी 22 मार्च रात 8 बजे से 1 मई सुबह 7 बजे तक लागू रहेंगी. हालांकि, राज्य सरकार ने इसे संपूर्ण लॉकडाउन का नाम नहीं दिया है, लेकिन नियम पिछले साल लगे लॉकडाउन की तरह ही सख्त हैं. इस दौरान जरूरी और इमरजेंसी स्थिति को छोड़कर अन्य सभी गतिविधियों और सेवाओं पर रोक लगा दी गई है.

सभी सरकारी और प्राइवेट दफ्तरों में केवल 15 फीसदी कर्मचारियों की उपस्थिति अनिवार्य की गई है. इसके तहत सिर्फ उन दफ्तरों को छूट होगी जो जरूरी सेवाओं से जुड़े हुए हैं. वहीं, शादी समारोह में 2 घंटे से अधिक समय तक नहीं चल सकते हैं और इनमें 25 से अधिक लोग शामिल नहीं होंगे. यदि किसी शादी समारोह में इन नियमों का उल्लंघन पाया गया तो 50 हजार रुपये का जुर्माना किया जा सकता है.

उधर, सरकारी बस 50 फीसदी की क्षमता के साथ चलेंगी और खड़े होकर सफर करने पर रोक रहेगी. लोकल सेवा सिर्फ इमरजेंसी सर्विसेज के लिए चलेंगी. दूसरे जिले में जाने के लिए जरूरी कारण बताने पर ही सफर की इजाजत दी जाएगी.

बता दें कि महाराष्‍ट्र में बीते 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के 67,468 नए मामले सामने आए और इस दौरान 568 लोगों की जान चली गई. एक दिन में महाराष्‍ट्र में कोरोना से हुई मौतों का यह सबसे बड़ा आंकड़ा है.

%d bloggers like this: