नोएडा का युवक ईरान के समुद्र में हुआ लापता

Spread the love

सेक्टर-12 में रहने वाला एक युवक रहस्यमय तरीके से ईरान में लापता हो गया है। वह दुबई की एक मर्चेंट शिपिंग कंपनी में काम करता था। वहां से माल लेकर कार्गो शिप में ईरान के लिए निकला था। ईरानी पोर्ट अथॉरिटी और शिपिंग कंपनी ने उसके समुद्र में गिरकर मौत की सूचना भेजी है। वहीं परिजनों का कहना है कि उसके साथ कुछ अनहोनी हुई है, जिसकी जांच होनी चाहिए।

सेक्टर-12 में गारमेंट शॉप करने वाले अनूप चौधरी के दो बच्चे हैं। उनके बेटे आयुष चौधरी ने इसी साल मर्चेंट नेवी का डिप्लोमा पूरा किया। चचेरी बहन शैली चौधरी के अनुसार डिप्लोमा पूरा करने के बाद आयुष अप्रैल में सेक्टर-15 में आरएएस शिपिंग कंपनी के कंसलटेंट प्रांजल से मिले। उसने मर्चेंट कंपनी में जॉब लगवाने का झांसा देकर उन्हें दिल्ली महिपालपुर में एंजल फ्लीट कंपनी में भेजा। वहां पर उसका पासपोर्ट और वीजा बनवाया गया और फिर 3 मई को दुबई भेज दिया गया। इस काम के लिए प्रांजल ने उनसे करीब साढ़े चार लाख रुपये ले लिए, जिसकी कोई रसीद भी नहीं दी गई।

दुबई पहुंचने पर उसे एडमिरल शिप एंड स्पेयर पार्ट ट्रेडिंग शिपिंग कंपनी ने ऑइल शिप के बजाय जर्जर पड़े 34 साल पुराने कार्गो शिप पर काम करने को मजबूर किया। शैली के मुताबिक 17 जुलाई को शिपिंग कंपनी की ओर से उन्हें फोन आया और बताया गया कि 16 जुलाई की शाम को जहाज ईरानी सीमा के पास समुद्र में खड़ा था। उसी दौरान संतुलन बिगड़ने से आयुष समुद्र में गिर गया और लहर उसे बहाकर ले गई। जबकि ईरान की ससुल्या पोर्ट अथॉरिटी की ओर से भेजी गई रिपोर्ट के मुताबिक उसे 15 जुलाई को समुद्र में एक कर्मी के गिरने की सूचना मिली। उसे ढूंढने की कोशिश की गई लेकिन कुछ पता नहीं चला

शैली ने सवाल उठाया कि आयुष बहुत अच्छा तैराक था। यदि वह समुद्र भी गिरा भी होगा तो तैरकर आसानी से जहाज पर आ सकता था। उन्होंने आरोप लगाया कि शिपिंग कंपनी इस मामले में कुछ छिपा रही है और उसे विदेश भेजने वाले बिचौलिये भी अब कोई मदद नहीं कर रहे हैं। उन्होंने विदेश मंत्रालय से उनके भाई को ढूंढकर लाने की अपील की है।

%d bloggers like this: