नोएडा सेक्टर 45: झुग्गीवासी रहने और खाने से परेशान नही मिला सरकारी राशन।

Spread the love

नोएडा सेक्टर 45 मे पुलिस चौकी के पीछे बने झुग्गी को प्राधिकरण ने पिछले महीने के 29 तारीख को तोड़ गये थे। अब ये झुग्गी वासी रहने खाने को परेशान हो रहे है। यहाँ पर रहने वाले अधिकतर लोग देहाड़ी मजदूर है और कुछ महिला जो लोगों के घर मे साफ सफाई के काम करती है । लेकिन जबसे कोरोना महामारी फैला है न तो देहाड़ी मजदूरी हो रहा है और न ही कोई अपने घर मे साफ-सफाई के काम ही इन्हे दे रहे है। ऊपर से जो सरकारी राशन आया वो भी इनकों नही दिया गया। इन लोगों को कहना है कि लोग आये थे और लिखकर ले गये लेकिन आज तक राशन नही दिया गया। प्राधिकरण अपना डंडा और चला दिया है।

शहर के वरिष्ठ नागरिक और अधिवक्ता श्री अनिल के गर्ग से जब इस बारे मे बात की गयी तो उनका कहना है कि आखिर जो 80 करोड़ लोगों के लिए जो राशन की घोषणा की गयी थी वो किसे दिये जा रहे है। साथ ही उन्हों ने कहा कि जब झुग्गी झोपड़ी वालों के लिए फ्लैट बनाये गये है और वो लोग नही जा रहे है तब तक क्यों नही ऐसे लोगों को उनमे शिफ्ट कराकर मिनिमम किराया लिया जाना चाहिए। जिससे सरकार को राजस्व की प्राप्ति होंगे और इनको रहने के लिए घर।

रेहड़ी पटरी संचालक एसोसिएशन के महासचिव श्री श्याम किशोर गुप्ता का कहना है कि सरकार इनकी व्यवस्था करे इन्हे उजाड़ने से पहले और साथ ही नोएडा को स्मार्ट सिटी बनाने के लिए नये झुग्गी को बनने से रोकना होगा । पहले कुछ झुग्गी मजदूर लोग बनाते है फिर यहाँ पर माफिया लोग झुग्गी बना लेते है और मजदूरों से किराया वसूल करते है।

नोएडा सेक्टर 16 जे.जे कालोनी के प्रधान श्री ब्रह्मपाल सिंह ने मौके पर पहुँचकर मामले को समझते हुए कहा है कि यहाँ से झुग्गी तो तोड़ दिया गया है लेकिन भैस किसने बांध दिया। प्राधिकरण को चाहिए था कि यहाँ से भैंस भी ले जाये खोल के। राशन के समस्या को सुलझाने के लिए पहुँचे थे लेकिन उनको मौके पर कोई व्यक्ति ऐसा नही मिला जिससे जानकारी ली जा सके।

%d bloggers like this: