सतेन्द्र हत्याकांड के सभी आरोपी दोषमुक्त, 2011 मे हुई थी हत्या।

Spread the love

ग्रेटर नोएडा के हाइप्रोफाईल सतेन्द्र हत्याकांड के सभी आरोपी को माननीय न्यायालय ने पाया दोषमुक्त। दोनो पक्षों के साक्ष्य को देखने तथा परीक्षण के बाद उन पर लगाए गए सभी आरोप को बेबुनियाद करार दिया गया है। यह मामला 2011 के है जब उस समय के सरकार मे मंत्री रहे श्री वेदराम भाटी पर पक्षपात करने को लेकर खुब किरकिरी हुई थी।

मामला 26 जुन 2011 कासना थाना के अंतर्गत राजपाल सिंह पुत्र सतेन्द्र की हत्या अज्ञात लोगों ने कर दिया। सतेन्द्र के लाश उसके अपने मकान सी-164 बीटा -2 पाया गया था। जिसे बाद मे ग्रेटर नोएडा के कैलाश अस्पताल मे ले जाया गया। लेकिन डाक्टर ने उसे मृत्य करार दे दिया था। सतेन्द्र उस समय मे होण्डा सियल मे कार्यरत था और साथ मे फाईनेन्सर का काम भी करता था। परिजनों ने शक जाहिर किया था कि पैसो का लेन-देन को लेकर इस घटना को अंजाम दिया गया है।

थाना कासना मे मृत के पिता श्री राजपाल सिंह निवासी लडपूरा ने मामला दर्ज करवाया था । हत्याकांड के दर्ज इस मामले मे पराग भाटी पुत्र अनिल भाटी, निवासी गिरधरपु, वर्तमान स्वर्णनगरी ग्रेटर नोएडा, अमरीश पुत्र श्रीचंद, राहुत पुत्र पप्पू भाटी निवासी सिकन्द्राबाद , अशोक पुत्र भोपाल, निवासी बिसनपुर सिम्भावली को विरुद्ध मामला को दर्ज कर उन्हे जेल भेजा गया और उनके विरुद्ध धारा 302, 328, 394, 504, 506, आईपीसी का आरोप तय किया गया था।

बचाव पक्ष के वकील श्री रामशरण नागर के मुताबिक अभियोजन पक्ष के द्वारा पूर्ण कोशिश किया गया कि अभियुक्त को सजा हो लेकिन उनके द्वारा प्रस्तुत सभी साक्ष्य और गवाह को न्यायालय ने परीक्षण के बाद आधारहीन पाते हुए सभी को आरोप मुक्त कर दिया। मामला चतुर्थ अपर जनपद न्यायाधीश श्री अनिल कुमार के द्वारा दोनों पक्षो को सुना गया। 13 फरवरी 2020 को सभी अभियुक्त को उन पर लगाए गए आरोप से मुक्त कर दिया गया।

बता दे कि उस समय के राज्य सरकार मे मंत्री श्री वेदराम भाटी का इस मामले को लेकर बहुत ही किरकिरी हुआ था। उन पर पक्षपात करने का भी आरोप लगाया गया था। बसपा सरकार मे कद्दावर नेता रहे वेदराम भाटी इस समय भाजपा मे के कद्दावर नेता के रुप में जाने जाते है।

%d bloggers like this: