नोएडा: सभी आटो रिक्शा सिर्फ 3 सवारी ढोने के लिए अधिकृत

Spread the love

जिला गौतमबुद्धनगर के सभी आटो रिक्शा सिर्फ 3 सवारी ढ़ोंने के लिए अधिकृत है लेकिन ढ़ोते है 10 सवारी। वाहन की फिटनेस नही होने पर 5 हजार की है चालान।

नोएडा जिला गौतमबुद्धनगर परिवहन विभाग से दी गयी जानकारी के मुताबकि नोएडा और ग्रेटर नोए जिला गौतमबुद्धनगर में सभी प्रकार के आटो सिर्फ 3 सवारी ढोने के लिए अधिकृत है। आईजीआरएस से मांगी गयी थी जानकारी जिसमें परिवहन विभाग ने दिया है जबाब। किराया निर्धारण पर कोई जबाब नही दिया गया है जबकि वाहन के फिटनेस को लेकर कहा गया है कि फिटनेस अनिवार्य है और नही होने पर 5 हजारा का जुर्माना किया जाता है या जायेगा। सिटी मजिस्ट्रेट के निर्देशन में टीम बनाकर समय समय पर कार्यवाही की जाती है।

लेकिन आमतौर पर हम सभी जानते है या आपको नोएडा सवारी आटों में 10 सवारी और ड्राइवर लगाकर 11 सवारी देखने को मिल जायेंगे। कभी कभी ऐसा भी होता है कि सवारी पीछे लटक कर भी सफर करते है। जबकि रिजर्व कैटेगरी वाले आटो में भी 6 सवारी तक ले जाया जाता है। यह नाकामी किसकी है यह तो नोएडा ट्रेफिक पुलिस ही बतायेंगे।

आमतौर पर सवारी आटों के बीच में 8 सवारियों को बिठाया जाता है इसके अलावा ड्राइवर सीट पर भी 2 या 3 सवारी बिठा लिया जाता है। अगर किसी सवारी ने उसकों नियम याद दिलाने की कोशिश की तो उसके साथ क्या व्यवहार किया जाता है यहाँ कहना उचित नही है। आज कल नोएडा के हर ट्रैफिक लाईट पर पुलिस मिलते है और अच्छी बात भी है। अगर किसी ने किसी को लिफ्ट दे दिया उसका भी चालान काट दिया जाता है क्योंकि पीछे बैठे सवारी के पास हैल्मेट नही होता है, लेकिन उसी रेड लाईट से ये भरी हुई आटो भी गुजरते है जिसमें 5 से लेकर 11 सवारी तक होते है। फिटनेस बात तो दूर इनका तो पोलूशन सर्टिफिकेट भी नही होता है।

%d bloggers like this: