नोएडा:लुभावनी स्कीम का लालच देकर 12 हजार लोगों को ठगने वाला गिरफ्तार

Spread the love

नोएडा, गाजियाबाद, मेरठ, लखनऊ, एटा तक फैला था जालमार्च में केस दर्ज होने के बाद कंपनी के 15 लोग हुए थे फरार 2 बैंक खाते भी हुए सीज, एक में जीरो बैलेंस, दूसरे में 11 लाख रुपये

नोएडा एक साल में दोगुने रुपये देने की लुभावनी स्कीम का लालच देकर 12 हजार लोगों को ठगा था। बाइक बोट कंपनी की तरह रिटर्न देने का सपना दिखाया गया था। सेक्टर-58 थाने में मार्च में केस दर्ज हुआ तो कंपनी के डायरेक्टर समेत 15 लोग फरार हो गए। पुलिस ने 25 हजार का इनाम रखा था। एमआईपी नाम की कंपनी का डायरेक्टर राजेश खंतवाल ठगी का मास्टरमाइंड बताया जा रहा था। पुलिस ने रविवार को उसे उत्तराखंड के कोटद्वार से गिरफ्तार किया। 2 बैंक खाते भी पता चले, जिसमें से एक में जीरो बैलेंस और दूसरे में 11 लाख रुपये मिले। दोनों को सीज कर दिया गया। ठगी के रुपयों को आरोपित ने दूसरी जगह डायवर्ट कर दिया।

एसपी सिटी विनीत जायसवाल ने रविवार को ठगी के इस सिंडिकेट का खुलासा किया। बाइक बोट कंपनी की तरह लोगों को झांसे में लिया गया। पिछले साल मई में राजेश खंतवाल, कपिल धामा, नितिन त्यागी, शुभम चौधरी, मनिंदर सिंह और आदित्य चौधरी धामा समेत 15 लोगों ने मिलकर एमआईपी (मैपल इनोवेटिव प्रमोटर्स) कंपनी बनाई। सेक्टर-63 में किराये पर बिल्डिंग लेकर ऑफिस खोला गया था। एजेंटों और प्रचार के जरिए ऐप बेस्ड कंपनी ओला-उबर की तरह बाइक टैक्सी शुरू करने का प्लान बताया गया। हर निवेशक से 62 हजार 100 रुपये जमा कराया और उन्हें 1 साल तक हर महीने 10 हजार 10 रुपये देने का वादा किया गया। किसी नए को जोड़ने पर निवेशकों को 5175 रुपये बोनस भी देने की बात हुई। झांसे में आकर नोएडा, गाजियाबाद, मोदीनगर, मेरठ, लखनऊ, एटा, मुजफ्फरनगर समेत कई जिलों से 12 हजार लोगों के करोड़ों रुपये जमा कराए गए। इसके बाद ठगों ने नोएडा का ऑफिस बंद कर गाजियाबाद, सेक्टर-58 नोएडा और सेक्टर-62 में ठिकाना बना लिया। बाद में इन्हें भी बंद कर आरोपित भाग गए। गिरफ्तार आरोपित राजेश खंतवाल के नाम जेवर में करीब 1500 वर्गगज की जमीन का भी पता चला है। एसपी ने बताया कि सभी आरोपितों के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट की कार्रवाई होगी।

%d bloggers like this: