बिहार, राजद नेता से नक्सली ने मांगी 10 लाख की राशि, जान से मारने की धमकी

Spread the love

बिहार के मुजफ्फरपुर जिले के कुढ़नी थाने के फकुली ओपी क्षेत्र के मनकौली निवासी राजद नेता प्रदीप कुमार यादव से नक्सली ने पत्र भेजकर 10 लाख की लेवी मांगी है। लेवी दो किश्तों में देने को कहा है। इसके लिए जल्द संपर्क करने की बात लिखी गई है। लेवी नहीं मिलने पर हत्या करने की भी धमकी दी गई है। इस संबंध में प्रदीप कुमार यादव ने फकुली ओपी के माध्यम से कुढ़नी थाने में अज्ञात के खिलाफ एफआईआर करायी है। साथ ही नक्सली पर्चा भी पुलिस को सौंपा है।

सदर अंचल इंस्पेक्टर आरके सिंह ने एफआईआर दर्ज की है। साथ ही इसकी जांच की जिम्मेदारी फकुली ओपी प्रभारी उदय कुमार सिंह को दी है। इधर, प्रदीप कुमार यादव ने बताया कि सुबह में घर की खिड़की के ग्रिल में एक सफेद लिफाफ फंसाया हुआ था। लिफाफ को खोलकर देखा तो उसमें माओवादी पत्र था। इसे नॉर्थ बिहार पश्चिम जोनल कमेटी के द्वारा भेजा गया था। इसमें 10 लाख रुपये लेवी दो किश्तों में मांगी गई थी जिसकी जानकारी पुलिस पदाधिकारियों को दी। लेवी मांगे जाने की बात से परिवार के सदस्य दशहत में आ गए। पत्र में एरिया कमांडर को मिस्ड कॉल व मैसेज करने की बात भी कही गई है। सोमवार को एएसपी वेस्ट से भी इसे लेकर मुलाकात की। उन्होंने सुरक्षा देने का आश्वासन दिया। उनके आदेश के बाद मंगलवार को फकुली ओपी में एफआईआर के लिए आवेदन दिया है।

प्रदीप के पुत्र और भाई की हो चुकी है हत्या :
प्रदीप यादव ने बताया कि 26 जून 2013 को उनके घर पर नक्सलियों ने हमला कर दिया था। इसमें उनके भाई और बेटे की हत्या कर दी थी। इस संबंध में थाने में केस भी दर्ज है। इसके बाद मार्च 2018 में भी उनके घर पर फायरिंग की गई थी। उस वक्त पुलिस की ओर से गार्ड भी दिया गया था। लेकिन, 2018 के हमला के वक्त गार्ड उपचुनाव को लेकर हटाया गया था। इधर, 2019 के लोकसभा चुनाव के समय फिर गार्ड हटाया गया था। इसके बाद से गार्ड दोबारा नहीं मिल सका। उन्होंने बताया कि ज2019 में ही उन्हें पुलिस अधिकारियों ने फीस देकर गार्ड रखने की बात कही थी। लेकिन, वह फीस देकर गार्ड रखने में अपनी समर्थता जतायी थी। इसके बाद गार्ड नहीं मिला।

जांच की जा रही है। पत्र की भी जांच करायी जा रही है। हर मामले में नक्सली से सीधा संबंध नहीं स्थापित होता है। पैड, भाषा शैली, दस्तख्त आदि की जांच करायी जाएगी। पीड़ित आकर मिले। -विजय शंकर सिंह, एएसपी अभियान क

livehindustan.com

%d bloggers like this: