चंद्रयान 2🛰 में नासा नहीं ले पाया ‘घायल’ विक्रम📷की तस्वीरें

Spread the love

भारत का चंद्रयान-2 मिशन लगभग खत्म हो गया है। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन के वैज्ञानिकों ने लैंडर विक्रम को जिंदा करने की उम्मीदें अब छोड़ दी हैं। इस मिशन में भारत के लिए आखिरी उम्मीद दुनिया का सबसे बड़ा स्पेस रिसर्च ऑर्गनाइजेशन नासा था। लेकिन अब ऐसा लग रहा है कि वहां से भी अच्छी खबर नहीं मिली है। नासा का सेटेलाइट लैंडर विक्रम की तस्वीरें लेने में नाकाम रहा है।

6 सितंबर को चंद्रयान-2 का लैंडर विक्रम की चांद की सतह पर हार्ड लैंडिंग हुई थी। इसकी वजह से लैंडर के 4 में से एक थ्रस्टर तिरछा हो गया है और ग्राउंड स्टेशन से डिस्कनेक्ट हो गया। चांद पर लूनर डे खत्म होने के बाद अंधेरा हो गया है। लिहाजा अब ‘घायल’ विक्रम की तस्वीरें भी नहीं मिल पा रही हैं।

दो दिन पहले खबर आई थी कि नासा का सेटेलाइट एलआरओ इन दिनों चांद का चक्कर काट रहा है और वो बुधवार की रात चांद के उस इलाके के पास पहुंचने वाला है, जहां शायद लैंडर विक्रम पड़ा हो, लेकिन अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी का कहना है कि वो उसके ऑर्बिटर में लगे कैमरे की पहुंच से बाहर है।

%d bloggers like this: