मोदी सरकार ने भारतीय बेटियों के लिये दे दी बड़ी सौगात,

    0
    33

    दिल्ली
    अब सिर्फ बेटी के नाम 250 रुपए करिए खर्च , बेटी की पढाई और शादी का पूरा खर्चा सरकार देगी

    दिल्ली : डाक विभाग की सुकन्या समृद्धि योजना के नियमों में बदलाव किया गया है। पहले इस योजना में एक हजार रुपये से खाता खुलता था, अब सिर्फ 250 रुपए में खोलवा सकेंगे। इसी तरह इस खाते में पूर्व में प्रति वर्ष न्यूनतम एक हजार रुपये जमा कराना अनिवार्य था। इसे भी घटाकर 250 रुपये कर दिया गया है।

    राशि घटने से अधिक से अधिक लोग इस योजना का लाभ लेकर बिटिया को सुखी-समृद्ध बना सकेंगे। योजना का खाता किसी भी बैंक व पोस्ट ऑफिस में खोलवाया जा सकता है।

    बेटी का भविष्य सुरक्षित

    सुकन्या समृद्धि खाते की ब्याज दर को अन्य लघु बचत योजनाओं और पीपीएफ की तरह प्रत्येक तिमाही में संशोधित किया जाता है। जुलाई-सितंबर तिमाही के लिए ब्याज दर 8.10 प्रतिशत रखी गई है। योजना के तहत शून्य से लेकर 10 वर्ष से कम आयु की लड़की के माता-पिता या कानूनी अभिभावक डाक घर या सरकारी बैंक में खाता खोलवा सकते हैं। बिटिया की 14 साल की आयु तक खाते में राशि जमा करवाई जा सकती है। इस खाते में जमा राशि पर आय कर कानून की धारा 80 सी के तहत छूट मिलती है।

    डेढ़ लाख रुपए तक जमा :

    इस खाते में प्रति वर्ष अधिकतम डेढ़ लाख रुपये जमा किया जा सकता है। एक माह या वित्त वर्ष में कितनी बार भी इस खाते में राशि जमा कराई जा सकती है। किसी वर्ष पैसा जमा नहीं कर पाने पर 50 रुपए पेनाल्टी भी भरनी पड़ेगी। योजना की शुरुआत 2015 में हुई। तब से लेकर अब तक प्रदेश में 3 लाख 31 हजार 969 खाते खुल चुके हैं।
    ये कागजात जरूरी
    सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खाते खुलवाने के लिए परिचय पत्र (आइडी) और प्रामाणित पता (एड्रेस प्रूफ) की फोटोकॉपी संलग्न करनी होगी। यदि आधार कार्ड है तो उसकी फोटोकॉपी भी फॉर्म के साथ संलग्न करें। बेटी का जन्म प्रमाणपत्र, अपनी और बेटी की पासपोर्ट साइज दो-दो फोटो देनी होगी।

    18 वर्ष की उम्र में निकाल सकते हैं पैसे

    योजना के तहत बेटी की उम्र 18 साल होने पर इस खाते से आधा धन यानी 50 फीसद तक राशि निकाल सकते हैं। पूरी राशि बेटी के 25 साल के होने पर ही मिलेगी। यदि आपकी बेटी की शादी 18 साल की आयु में ही हो जाती है तो प्री-मैच्योर सुविधा के तहत पूरी राशि निकाल सकते हैं।

    Mmp