इन तीन देशों से भारत आई मेडिकल सहायता, MEA नेे द‍िया धन्‍यवाद

Spread the love

स्विटजरलैंड , नीदरलैंड और पोलैंड ने भारत को मेडिकल राहत की आपूति की खेपें भेजी हैं

कोरोना वायरस संक्रमण की महामारी से जूझ रहे भारत को तीन देशों स्विटजरलैंड (Switzerland), नीदरलैंड (Netherlands) और पोलैंड (Poland) ने मेडिकल राहत की आपूति की खेपें भेजी हैं. इन तीनों देशों से विमान आज शुक्रवार को सुबह देश की राजधानी नई दिल्‍ली में आए हैं. भारतीय विदेश मंत्रालय ने इन तीनों देशों को मदद करने के लिए आभार जताया है.

न्‍यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, नीदरलैंड से एक उड़ान 449 वेंटिलेटर, 100 ऑक्सीजन सांद्रता और अन्य चिकित्सा आपूर्ति लेकर आज भारत में आई है.

MEA के प्रवक्ता अरिंदम बागची, आने वाले दिनों में शेष चिकित्सा उपकरणों को भेज दिया जाएगा. हमारे मित्र नीदरलैंड से इस समर्थन हमारे लिए मूल्‍यवान है.

स्विट्जरलैंड से एक फ्लाइट 600 ऑक्सीजन सांद्रता, 50 वेंटिलेटर और अन्य मेडिकल आपूर्ति की खेप लेकर आज सुबह भारत पहुंची है.

विदेश मंत्रालय के आधिकारिक प्रवक्‍ता ने कहा, अंतरराष्ट्रीय सहयोग जारी है. 100 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स की खेप पोलैंड से आई है. इस समर्थन के लिए हमारे यूरोपीय संघ के साथी, पोलैंड को धन्यवाद.

विदेश से 5 मई तक प्राप्त सहायता सामग्री राज्यों, केंद्रशासित प्रदेशों को आवंटित : केंद्र
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बृहस्पतिवार को कहा कि विदेश से मदद के रूप में प्राप्त 1841 ऑक्सीजन सांद्रक, 1814 ऑक्सीजन सिलेंडर, नौ ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र और रेमडेसिविर की 2.8 लाख से ज्यादा शीशियां 31 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को आपूर्ति कर दी गई है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने एक बयान में कहा, पांच मई तक प्राप्त सभी सामग्री आवंटित कर दी गयी और तुरंत सामग्री की खेप राज्यों, संस्थानों के लिए भेज दी गयी. यह लगातार चलने वाली गतिविधि है.

विभिन्न देशों से सहायता प्राप्त हुई
बयान में कहा गया कि नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमिताभ कांत की अध्यक्षता में अधिकार प्राप्त समूह संख्या तीन ने विदेश से प्रात सहायता सामग्री को तेजी से भेजने और इसके वितरण के तरीकों पर चर्चा की. मंत्रालय ने कहा कि केंद्र को 27 अप्रैल, 2021 के बाद से कोविड-19 राहत सामग्री, चिकित्सकीय उपकरण अंतरराष्ट्रीय सहायता के रूप में मिले हैं. यह सहायता विभिन्न देशों से प्राप्त हुई है.

ये आपूर्ति आई है
मंत्रालय ने बताया कि 1841 ऑक्सीजन सांद्रक, 1814 ऑक्सीजन सिलेंडर, 9 ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र, 2403 वेंटिलेटर, बीपीएपी, सीपीएपी मशीनें और रेमडेसिविर की 2.8 लाख से ज्यादा शीशियों की आपूर्ति की गई हैं. अंतरराष्ट्रीय मदद के तहत कोविड-19 उपकरणों की खेप मिलने के संबंध में दिल्ली के लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज अस्पताल के डॉ. एन एन माथुर ने बताया कि उपकरणों की खेप अस्पताल में पहुंच चुकी है. बयान में कहा गया कि स्वास्थ्य मंत्रालय ने दो मई से मानक संचालन प्रक्रिया तैयार कर इसे लागू किया.

%d bloggers like this: