ममता बनर्जी: मतदाताओं को धमकाने के लिए गुंडों की मदद ले रही है बीजेपी

Spread the love

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने लोगों को नि:शुल्क चावल और दालें देने के वादे को लेकर बीजेपी पर निधाना साधते हुए सोमवार को कहा कि भगवा दल चुनाव से पहले बड़े-बड़े वादे करता है, लेकिन उन्हें कभी पूरा नहीं करता। बनर्जी ने बांकुड़ा जिले के कोतुलपुर में एक रैली को संबोधित करते हुए आरोप लगाया कि बीजेपी ने लोगों को धमकाने के लिए गुंडे बुलाए हैं। ये गुंडे आपके घर आकर हाथ जोड़कर महिलाओं से वोट मांग सकते हैं। बनर्जी ने कहा, ‘‘बीजेपी के नेता चुनाव से पहले झूठ बोलते हैं। वे चावल, दालें, चाकरी (नौकरी) और हर चीज का वादा करेंगे, लेकिन चुनाव के बाद वे नजर नहीं आएंगे। मैं जानना चाहती हूं कि (2014 लोकसभा चुनाव से पहले) हर नागरिक के बैंक खाते में 15-15 लाख रुपए जमा कराने के पार्टी के वादे का क्या हुआ।’’

ममता बनर्जी ने महिलाओं को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘यदि ये लोग आपको अप्रत्यक्ष रूप से धमकाते हैं तो उन्हें खदेड़ने के लिए अपने घरों के बरतन हाथों में लेकर तैयार रहें।’’ बनर्जी ने आरोप लगाया कि पार्टी ने मतदाताओं को लूटने के लिए बाहर से गुंडे बुलाए हैं। उन्होंने सरकारी नौकरियों में महिलाओं के लिए 33 प्रतिशत आरक्षण के बीजेपी के वादे पर कटाक्ष करते हुए कहा, ‘‘वे विभिन्न मंचों पर निर्वाचित प्रतिनिधियों में महिलाओं का 33 प्रतिशत प्रतिनिधित्व सुनिश्चित करने के लिए कदम नहीं उठा सके।’’ बनर्जी ने कहा, ‘‘इसके विपरीत, तृणमूल ने हमेशा यह सुनिश्चित किया है कि महिलाओं को पंचायत और स्थानीय निकाय चुनावों में 50 प्रतिशत प्रतिनिधित्व मिले। इसके अलावा संसद में तृणमूल की 40 प्रतिशत सदस्य महिलाएं हैं।’’

उन्होंने आरोप लगाया कि बीजेपी जिन राज्यों में सत्ता में है, वह उन राज्यों में महिलाओं के लिए आदेश जारी कर रही है कि उन्हें क्या पहनना चाहिए और क्या खाना चाहिए। बनर्जी ने कहा, ‘‘वे (भगवा दल के नेता) ये आदेश देते हैं कि किसी को साड़ी पहननी चाहिए या कोई और परिधान पहनना चाहिए। वे फैसला करते हैं कि गर्भवती महिला को अंडे खाने चाहिए या नहीं।’’ उन्होंने कहा कि यदि बीजेपी सत्ता में आती है, तो वह एनपीआर और एनआरसी को लागू कर देगी और इन रजिस्टर से असल नागरिकों के नाम हटा देगी।

%d bloggers like this: