भाजपा सरकार का महापाप, हिमांचल मंदिर में मुस्लमान और इस्लाम को किया बहाल

Spread the love

हिमांचल की भाजपा सरकार के द्वारा मंदिर में ईसाई और मुस्लिम को बहाल करने पर हिन्दू संगठनों ने किया विरोध। आखिर मंदिर ट्रस्ट में भगवान में आस्था नही रखने वाले अपितु हिन्दु धर्म से नफरत करने वाले को जगह क्यों ?

आफिस आफ द कमीशनर (टेम्पल) कम डीसी कांगड़ा धर्मशाला में दो आफिसर को बहाल किया गया है या कहे तो पहले से ही बहाल है। श्री जशन डीन जो कि पहले ज्वालामुखी मंदिर में जिनकों अब आफिस आफ कमीशनर टेम्पल कम डीसी कांगड़ा में नियुक्त किया गया है । जबकि दूसरे मुस्लिम आफिसर है शकीन मोहम्मद और ये भी ज्वाला मुखी मंदिर से आफिस आफ कमीशनर ज्वाला टेम्पल कम डीसी कांगड़ा में नियुक्त किया गया है।तैनाति पत्र 18 मार्च को राकेश प्रजापति आईएएस जो कि कमीशनर आफ टेम्पल कम डीसी कांगड़ा है उनके द्वारा जारी किया गया है। निश्चित तौर पर सरकार के सहमति के वगैस संभव नही है।

अब सवाल उठ रहा है कि हिमांचल के भारतीय जनता पार्टी सरकार किस प्रकार से यह नियुक्ति मंदिर के अन्दर कर सकता है। जबकि भारतीय जनता पार्टी अपने आपको हिंदुवादी पार्टी कहती है और लोगों का उस पर विश्वास भी है। आपको बता दे कि 1947 से पहले लोगों का भ्रम कांग्रेस के प्रति भी कुछ ऐसा ही था जैसा कि आज भारतीय जनता पार्टी के साथ है लेकिन विभाजन की त्रासदी नें 40 लाख से ज्यादा हिन्दुओं के जान लिया। जिस पर हिन्दुओं का बहुत विश्वास था उसने आज तक उसका संज्ञान नही लिया।

इसलिए सवाल सरकार कोई भी हो किसी का भी सवाल उठाना बहुत आवश्यक हो गया है कि आखिर मंदिर या मंदिर से जुड़े किसी भी प्रशासनिक विभाग में एक मुस्लिम और एक ईसाई की तैनाति क्यों ?

%d bloggers like this: