किसानों के समर्थन में साहित्‍यकारों ने भी अवॉर्ड वापस किए

Spread the love

साहित्‍य जगत की हस्तियों की ओर से भी आंदोलन कर रहे किसानों के समर्थन में अवॉर्ड लौटाने की शुरुआत हुई.

केंद्रीय कृषि कानूनों के विरोध में आंदोलन कर रहे किसानों के समर्थन में साहित्‍य जगत की हस्तियों की ओर से भी अवॉर्ड लौटाने की शुरुआत हो चुकी है. भारतीय सहित्‍य अकादमी पुरस्‍कार (Bhartiya Sahitya Akademi Award) में पंजाबी सहित्‍यकारों ने आंदोलनतरत किसानों के समर्थन में अवॉर्ड करने की घोषणा की है.

बता दें कि कल पंजाब के पूर्व मुख्‍य मंत्री सुरजीत सिंह बादल और एक अकाली नेता ने पद्म सम्‍मान वापस कर दिया था.

सेंट्रल पंजाबी राइटर्स एसोसिएशन (Central Punjabi Writers’ Association ) के मुताबिक, पंजाबी में भारतीय साहित्‍य अकादमी अवॉर्ड विजेताओं में शिरमौ शिरे डॉ. मोहनजीत (Sirmour Shire Dr Mohanjit), प्रमुख चिंतक डॉ. जसविंदर सिंह (Dr. Jaswinder Singh) और पंजाबी नाटककार और पंजाबी ट्रिब्‍यूजन के एडिटर स्‍वराजबीर ने अपने अवॉर्ड किसानों के प्रति समर्थन दिखाते हुए वापस कर दिए हैं.

बता दें कि पिछले 9 दिन से पंजाब, हरियाणा, यूपी के किसान देश की राजधानी दिल्‍ली में केंद्रीय कृषि बिलों को वापस करने की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे हैं.

%d bloggers like this: