भारत🇮🇳 को जानने के लिए संस्कृत🕉 का ज्ञान होना जरूरी : भागवत👤

Spread the love

भारत🇮🇳 को जानने के लिए संस्कृत🕉 का ज्ञान होना जरूरी : भागवत👤

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत ने एक बार फिर संस्कृत पर जोर देते हुए कहा है कि भारत को वो ही लोग समझ सकते हैं जिन्हें संस्कृत के बारे में जानकारी हो। संस्कृत को जाने बिना भारत को पूरी तरह से समझना मुश्किल है।

नागपुर में एक पुस्तक के विमोचन कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे आरएसएस प्रमुख ने कहा कि देश में सभी मौजूदा भाषाएं, जिसमें आदिवासी भाषाएं भी शामिल हैं वह कम से कम 30 प्रतिशत संस्कृत के शब्दों से बनी हैं। भागवत ने कहा ने कि डॉ। बीआर आंबेडर हमेशा इस बात पर अफसोस जताते रहे कि उन्हें संस्कृत सीखने का अवसर नहीं मिल सका। आंबेडकर कहते थे कि देश की परंपराओं के बारे में जानने के लिए संस्कृत का ज्ञान होना जरूरी है।

उन्होंने कहा, भारत में ऐसी कोई भी भाषा नहीं है, जिसे तीन से चार महीनों में नहीं सीखा जा सकता है। अगर कोई अपनी भाषा में बोलता है तो भले ही हम उसे पहली बार में समझ न सकें लेकिन अगर उस भाषा को धीरे-धीरे बोला जाए तो उसका भाव समझ में आने लगता है। इसका सबसे बड़ा कारण है संस्कृत है।

%d bloggers like this: