google.com, pub-3648227561776337, DIRECT, f08c47fec0942fa0

कम आवक के कारण हरे सब्जियों के आसमान छूते दाम से हर घर बिगड़ा थाली का स्वाद,आमजन परेशान

Spread the love

कोरबा:- पिछले एक माह से हरे सब्जियों के दाम काफी बढ़े हुए है।आसमान छूती दाम को लेकर व्यापारियों का कहना है कि छत्तीसगढ़ में आवक कम होने की वजह से हरे सब्जियों के दाम बढ़े हुए है।

जिसके कारण जो लोग एक किलो सब्जी खरीदते थे उन्हें पाव भर सब्जी खरीदने में भी पसीना आ रहा है।परवल,बैगन,टमाटर,फूलगोभी,बरबट्टी,करेला,भिन्डी जैसी सब्जियों के दाम आसमान छू रहे है।और कभी 10 से 20 रूपए किलो में मिलने वाली उक्त सब्जियाँ 50 से 60 रुपए प्रति किलो के भाव से बाजार में बिक रहे है।

जिसके कारण घरों में थाली का जायका बिगड़ गया है।उम्मीद जताई जा रही है कि दीपावली के बाद शायद इन हरे सब्जियों के दाम कम हो जाए।बताया जा रहा है कि बीते एक माह से सब्जियों की आवक काफी कम होने के कारण दाम बढ़े हुए है।जिससे खरीददार के साथ सब्जी विक्रेता भी बढ़े हुए दामों से परेशान हैं।बीते सितंबर माह में हुए भारी बारिश ने बाडिय़ों की ज्यादातर सब्जियां गला दी है तथा छोटे पौधे नष्ट कर दिए।वही लोकल स्तर पर भी सब्जियों की पैदावार अभी ना के बराबर है।

यही वजह है कि हरे सब्जियों का उत्पाद कम होने के कारण सब्जियों के दाम मार्केट में आसमान छूती नजर आ रही हैं।ऐसा नहीं है कि केवल स्थानीय बाजार में ही हरे सब्जियों के दाम महंगे है।बल्कि गाँव-देहातों के हाट बाजारों में भी यही हालात है।

सब्जियों के दाम प्रतिकिलो पर एक नजर
करेला 55-70 रुपए
टिंडा 110-160 रुपए
बैगन 30-40 रुपए
फूल गोभी 50-60 रुपए
बरबट्टी 50-65 रुपए
लौकी 30-40 रुपए
भिंडी 55-65 रुपए
मुनगा 70-80 रुपए
टमाटर 40-70 रुपए
मेथी 100-140 रुपए
मिर्ची- 80-100 रुपए
प्याज 50-80 रूपए
लहसून 140-170 रूपए
कद्दू 30-40 रूपए
सेमी 60-80 रूपए
अदरक 120-150 रूपए

%d bloggers like this: