अवैध निर्माण ध्वस्त:सवाल बाकी

Spread the love

-राजेश बैरागी-
130 मीटर सड़क से लेकर गांव तक वर्षों से सुनपुरा गांव में चल रहे अवैध कॉलोनीकरण को आज ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने पूरी निर्दयता से ध्वस्त कर दिया। इस कार्रवाई में कुछ किसानों द्वारा जंगली जानवरों से फसल को बचाने के लिए की गई चारदीवारी भी ढहा दी गई। ऐसे एक किसान ने मौके पर कार्रवाई का विरोध करते हुए अपने सिर में ईंट मारकर आत्महत्या करने की धमकी दी तो शेष चारदीवारी छोड़ दी गई। इस दौरान अवैध रूप से बने कुछ फ्लैट नुमा घरों को नहीं ढहाया गया।इन घरों में रह रहे लोगों को 15 दिन का नोटिस दिया गया है।

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की गांव सुनपुरा में आज की गई ध्वस्तीकरण की कार्रवाई की किसी को कानों-कान खबर नहीं थी। इसलिए जब यह कार्रवाई की गई तो विरोध करने को कोई मौजूद नहीं था। फिर भी प्राधिकरण ने भारी पुलिस बल का इंतजाम किया था। गांव और 130 मीटर रोड के दोनों नाकों को पुलिस ने पूरी तरह घेर लिया था।

हालांकि जो घर, चारदीवारी आज ध्वस्त किए गए,उनका निर्माण सालों से किया जा रहा था। इसके साथ ही अपने खून पसीने की कमाई से ग्रेटर नोएडा में आशियाने की चाह रखने वाले अनेक गरीब लोगों के सपने एक बार फिर टूट गए।यहां निरंतर कॉलोनी बनाई जा रही हैं।130 मीटर रोड से लगे होने के कारण यहां अवैध कॉलोनाइजर लंबे समय से सक्रिय हैं। प्राधिकरण द्वारा अधिग्रहण न करने तथा अधिकारियों की नजरंदाजी से यह खेल चल रहा है।आज भी घटनास्थल पर एक अधिकारी का नाम लेकर लोग खूब चर्चा कर रहे थे।(नेक दृष्टि हिंदी साप्ताहिक नौएडा)

%d bloggers like this: