पृथक पूर्वांचल राज्य की मांग को लेकर मंगलवार को निकाली गई पदयात्रा

Spread the love

राष्ट्रीय विकास मंच पार्टी के कार्यकर्ता ने पदयात्रा में भरी हुंकारभदोही। पृथक पूर्वांचल राज्य के गठन की मांग को लेकर मंगलवार को भी राष्ट्रीय विकास मंच पार्टी ने नगर के अजीमुल्लाह चौराहे से पद यात्रा शुरू की। जो विवेकानंद चौराहा पहुंचने के बाद समाप्त हो गया।इस दौरान पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डा. पीके तिवारी ने कहा कि पूर्वांचल राज्य का गठन समय की मांग है। अगर 27 जिले में फैले पूर्वांचल में 28 संसदीय क्षेत्र व 147 विधानसभा क्षेत्र है।

इसको उत्तर प्रदेश से अलग कर पूर्वांचल राज्य की स्थापना की जाती है तो यहां का संपूर्ण विकास होगा। उन्होंने कहा कि पृथक पूर्वांचल राज्य के गठन तक राष्ट्रीय विकास मंच पार्टी द्वारा आंदोलन किया जाता रहेगा। वहीं पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव कलाधर दुबे ने कहा कि पूर्वांचल में बेरोजगारी, भूखमरी एवं गरीबी मुंह बाए खड़ी है। लेकिन इधर 25 वर्षों से पश्चिमी उत्तर प्रदेश के शासकों ने पूर्वांचल के 9 करोड़ जनता के साथ धोखा किया है।

यहां का जितना विकास होना चाहिए। उतना नहीं हो सका। नतीजा पूर्वांचल के लोग रोजी-रोटी की तलाश में घर बार छोड़कर पलायन कर जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जब तक पूर्वांचल राज्य का गठन नहीं होगा। तब तक यहां का विकास नहीं हो सकता। पूर्वांचल राज्य के गठन का वीणा राष्ट्रीय विकास मंच पार्टी ने उठाया है। इसके गठन तक ऐसे ही यहां के लोगों की आवाज को बुलंद किया जाता रहेगा।


इस मौके पर काशीनाथ यादव, विनोद कुमार द्विवेदी, संतोष कुमार, राजबहादुर यादव, अंशु सिंह, रमेश यादव, राम आसरे यादव, घनेष दुबे बोधन, महेंद्र कुमार यादव, रत्न दुबे व विनय कुमार पांडेय आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

%d bloggers like this: