बर्फीली वादियों में घुसपैठियों से हैंड-टू-हैंड कॉम्‍बैट, एलओसी पर ऑपरेशन की पूरी कहानी

Spread the love

नियंत्रण रेखा (Line of Control) के पास बर्फीले इलाकों में पाकिस्‍तान समर्थ‍ित घुसपैठियों के खिलाफ सेना (Indian Army) ने ऑपरेशन चलाया। आमने-सामने हुई लड़ाई में पांचों घुसपैठियों को मार गिराया गया।


नई दिल्‍ली
पूरी दुनिया में कोरोना वायरस का हाहाकार मचा हुआ है। संकट की इस घड़ी में भी पाकिस्‍तान अपनी चालों से बाज नहीं आ रहा है। उसके टुकड़ों पर पलने वाले घुसपैठिये भारत में घुसने की कोशिश कर रहे हैं। लाइन ऑफ कंट्रोल (LoC) पर 5 पाकिस्‍तान समर्थित घुसपैठियों का गैंग मौजूद था। इसकी सूचना मिलने पर भारतीय सेना ने एक ऑपरेशन शुरू किया। स्‍पेशल टीम को उत्‍तरी कश्‍मीर के केरन सेक्‍टर में उस ठिकाने के पास एयर-ड्रॉप किया गया। सेना के प्रवक्‍ता कर्नल अमन आनंद ने बताया कि बर्फीली पहाड़‍ियों में लड़ाई हुई और सबको मार गिराया गया। इस ऑपरेशन में पांच भारतीय जवान भी शहीद हुए हैं।


बर्फ में दबी एंटी-घुसपैठ बाड़


सेना को एलओसी के पास जुमगुंड इलाके में एक अप्रैल को घुसपैठियों के पैरों के निशान मिले। इसके बाद, ऑपरेशन रंडोरी बेहक शुरू किया गया। इसमें हेलिकॉप्‍टर्स और स्‍पाई ड्रोन्‍स के जरिए घुसपैठियों का पता लगाने की कोशिश की गई। एक सूत्र ने हमारे सहयोगी अखबार टाइम्‍स ऑफ इंडिया को बताया कि एंटी-घुसपैठ बाड़ पूरी तरह से बर्फ में दब गई थी। रिज लाइन्‍स के चारों तरफ के सभी रूट्स बंद हो चुके थे। सर्च ऑपरेशंस के दौरान, आतंकियों से चार बार संपर्क हुआ मगर वे भागने में सफल रहे। एक बार तो पहाड़ के निकले हुए हिस्‍से से कूदकर घुसपैठिए भागे।


ऑपरेशन रंडोरी बेहक था नाम


ड्रोन्‍स से विजुअल्‍स मिलने के बाद, पैरा-SF की टीम को हेलिकॉप्‍टर्स के जरिए मूव कराया गया। रविवार दोपहर को, घुसपैठियों के कदमों के निशानों का पीछा करते-करते सूबेदार संजीव सिंह की अगुवाई में टीम धोखे में एक कंगनी (पहाड़ का वो हिस्‍सा जो भारी बर्फ जमा होने से बनता है, मगर ठोस पहाड़ नहीं) पर चढ़ गई। वजन से कंगनी ढह गई और सभी एक घाटी में जा गिरे। पांचों घुसपैठिए भी वहीं छिपकर बैठे थे। गिरने के बावजूद, सैनिकों ने प्‍वॉइंट ब्‍लैंक रेंज पर उनसे लोहा लिए। हैंड-टू-हैंड कॉम्‍बैट भी हुई। पांचों आतंकियों को गोलीबारी में मार गिराया गया।

पांच जवानों की शहादत


10 हजार फीट की ऊंचाई पर हुए इस एनकाउंटर में पैरा-SF बटालियन के पांच जवान शहीद हो गए। उनकी पहचान सूबेदार संजीव कुमार, हवलदार देवेंद्र सिंह, पैराट्रूपर्स बाल कृष्‍ण, अमित कुमार और छत्रपाल सिंह के रूप में हुई है। तीन की मौके पर ही मौत हो गई थी। दो जवानों ने श्रीनगर में मिलिट्री अस्‍पताल ले जाते समय दम तोड़ा।

%d bloggers like this: