भारत में रह रहे एक लाख श्रीलंकाई तमिलों को सरकार नागरिकता दे: श्रीश्री रव‍िशंकर

Spread the love

श्री श्री रविशंकर ने मोदी सरकार से एक लाख श्रीलंकाई तमिलों को नागरिकता देने का अनुरोध किया
आध्यात्मिक गुरु श्री श्री रविशंकर ने मंगलवार को केंद्र से अनुरोध किया कि वह पिछले तीन दशक से भी ज्यादा वक्त से देश में शरणार्थियों की तरह रह रहे एक लाख से ज्यादा श्रीलंकाई तमिलों को नागरिकता देने पर विचार करे. रविशंकर ने ट्वीट किया है, ”मैं भारत सरकार से अनुरोध करता हूं कि वह देश में पिछले 35 वर्ष से शरणार्थियों की तरह रह रहे एक लाख से भी ज्यादा श्रीलंकाई तमिलों को नागरिकता देने पर विचार करें.”

रविशंकर ने यह अपील ऐसे वक्त में की है, जब एक दिन पहले ही लोकसभा में नागरिकता संशोधन विधेयक पारित हुआ है
इस प्रस्तावित कानून के तहत हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई समुदाय के वे लोग जो 31 दिसंबर, 2014 से पहले पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से भारत आए हैं, और अपने देश में धर्म के आधार पर प्रताड़ना झेल चुके हैं, उन्हें अवैध प्रवासी नहीं माना जाएगा और उन्हें भारत की नागरिकता दी जाएगी. तमिलनाडु में बड़ी संख्या में श्रीलंकाई तमिल रहते हैं

%d bloggers like this: