google.com, pub-3648227561776337, DIRECT, f08c47fec0942fa0

नौ दिनों तक माँ दुर्गे की, कन्या भोजन के भंडारे का आयोजन

Spread the love

कृष्णा गुप्ता

खंडवा-बीड़ शारदीय नवरात्र पर्व के दौरान जो भक्त पूरे नौ दिन का व्रत करते है।वे तिथियों के मुताबिक नवमी और दशमी को कन्या पूजन करने के बाद ही प्रसाद ग्रहण कर व्रत खत्म करते है।शास्त्रो में भी बताया गया है कि कन्या पूजन के लिए दुर्गाष्टमी व नवमी एवं दशमी के दिन को सबसे अहम और शुभ माना गया है।नवरात्र के दौरान कन्या पूजन का बड़ा महत्व है।

नौ कन्याओं को नौ देवियो के प्रतिबिम्ब के रूप में पूजने के बाद व भोजन कराने के बाद एवं स्वयं भी प्रसाद ग्रहण कर व्रत का समापन करते है।इसी कड़ी में मंगलवार को बीड़ क्षेत्र के शीतला मंदिर व दुर्गा मंदिर एवं काली माता मंदिर में विशाल कन्या भोजन के भंडारे का आयोजन किया गया।इसमे बीड़ व आसपास की गाँव की सैकड़ों बालिकाएं पहुँची व उन्हें आदर-सत्कार के साथ भोजन कराया गया।तथा कन्या भोजन के साथ ही बीड़ व आसपास के भक्तो ने भी कन्या भोजन का प्रसाद ग्रहण किया। इसमे सभी मंदिरो में समिति के सदस्यों ने कन्या भोजन के समापन होने तक योगदान दिया।इनमे मंदिरो के अध्यक्ष श्रीमान आशीष चौरे व संदीप जायसवाल एवं अनिल श्रीवास कार्यक्रम समाप्ति तक मौजूद रहे।

%d bloggers like this: