अर्थव्यवस्था तीन साल पीछे गई, गिरावट के लिए केंद्र सरकार की नीतियां जिम्मेदार

Spread the love

कांग्रेस ने अर्थव्यवस्था में 2020-21 में 7.3 प्रतिशत की गिरावट के लिए नरेंद्र मोदी सरकार की नीतियों को प्रमुख कारण बताया है.

कांग्रेस ने अर्थव्यवस्था में 2020-21 में 7.3 प्रतिशत की गिरावट के लिए नरेंद्र मोदी सरकार की नीतियों को प्रमुख कारण करार देते हुए सोमवार को दावा किया कि देश की अर्थव्यवस्था तीन साल पीछे चली गई है. पार्टी प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने सरकार पर तंज कसते हुए यह सवाल भी किया कि सरकार बताए कि पांच हजार अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था का सपना कब पूरा होगा? उन्होंने कहा, ‘‘इन आंकड़ों से साफ है अर्थव्यवस्था साल 2018 की स्थिति में चली गई है. इसका मतलब यह है कि तीन साल पहले हम जहां खड़े थे वहीं पहुंच गए हैं.

कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘सरकार कहेगी कि इस स्थिति के लिए कोरोना महामारी जिम्मेदार है. लेकिन दुनिया की प्रमुख अर्थव्यवस्थाएं तो अब उबर रही हैं, लेकिन हमारी अर्थव्यस्था अब भी गिरावट की ओर है. इसका मुख्य कारण सरकार की नीतियां हैं. सरकार को समझना होगा कि मांग बढ़ाए बिना अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाया नहीं जा सकता.

वल्लभ ने सरकार पर तंज कसते हुए कहा, ‘‘सरकार को बताना चाहिए पांच हजार अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था का सपना कब पूरा होगा. हकीकत यह है कि इन लोगों को हर चीज में सिर्फ तारीख देने की आदत है.

गौरतलब है कि देश की अर्थव्यवस्था में 2020-21 में 7.3 प्रतिशत की गिरावट आयी है जो गिरावट के बारे में पहले के विभिन्न अनुमानों से कम है. इसका कारण कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर से ठीक पहले चौथी तिमाही में वृद्धि दर का कुछ बेहतर रहना है.

एशिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर 2020-21 की चौथी तिमाही (जनवरी-मार्च) में 1.6 प्रतिशत रही. यह इससे पिछली तिमाही अक्टूबर-दिसंबर, 2020 में 0.5 प्रतिशत से अधिक है. वित्त वर्ष 2019-20 की जनवरी-मार्च तिमाही में जीडीपी (सकल घरेलू उत्पाद) में 3 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी.

%d bloggers like this: