डोनाल्ड ट्रंप की कानूनी टीम ने महाभियोग आरोपों को बताया ‘गैर कानूनी’

Spread the love

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ हाउस डेमाक्रेट्स के महाभियोग लाने पर व्हाइट हाउस की कानूनी टीम ने पहली बार औपचारिक प्रतिक्रिया देते हुए इसे ‘क्रूर और गैरकानूनी’ बताया है।
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ हाउस डेमाक्रेट्स के महाभियोग लाने पर व्हाइट हाउस की कानूनी टीम ने पहली बार औपचारिक प्रतिक्रिया देते हुए इसे ‘क्रूर और गैरकानूनी’ बताया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, अमेरिकी सीनेट में दायर एक प्रतिक्रिया में ट्रंप के वकीलों ने कहा, ‘यह साल 2016 के चुनाव के परिणामों को पलटने और 2020 में होने वाले चुनाव में हस्तक्षेप करने का एक क्रूर और गैर कानूनी प्रयास है। महाभियोग के प्रस्ताव संवैधानिक रूप से अवैध हैं।’
इसके साथ ही ट्रंप की कानूनी टीम ने सीनेट से प्रतिनिधि सभा द्वारा पारित किए गए महाभियोग प्रस्ताव के 2 आरोपों को खारिज करने का अनुरोध किया। टीम ने इसे स्वतंत्र रूप से राष्ट्रपति चुनने के अमेरिकी लोगों के अधिकार पर खतरनाक हमला करार दिया। डेमोक्रेट बहुल प्रतिनिधि सभा ने राष्ट्रपति ट्रंप के खिलाफ महाभियोग चलाने के प्रस्ताव को अमेरिका के ऊपरी सदन सीनेट में भेजने के पक्ष में बुधवार को मतदान किया था। ट्रंप पर आरोप है कि उन्होंने डेमोक्रेट प्रतिद्वंद्वी जो बाइडेन के खिलाफ जांच के लिए यूक्रेन पर दबाव बनाकर सत्ता का दुरुपयोग किया और कांग्रेस को बाधित किया।

सदन ने 7 महाभियोग प्रबंधकों को नियुक्त किया
सीनेट में कार्यवाही चलाए जाने के पक्ष में 228 सांसदों ने जबकि विपक्ष में 193 सांसदों ने वोट दिया था। सदन ने 7 महाभियोग प्रबंधकों को नियुक्त किया, जो ट्रंप को अमेरिकी राष्ट्रपति के पद से हटाने की कार्यवाही में डेमोक्रेट्स के पक्ष में बहस करेंगे। हाउस स्पीकर नैन्सी पेलोसी ने इन प्रबंधकों को नामित किया है। ट्रंप के खिलाफ लगाए गए आरोपों पर प्रतिक्रिया देते हुए, व्हाइट हाउस की कानूनी टीम ने कहा कि महाभियोग का प्रस्ताव देश के लोगों की इच्छा को पलटने का एक घिनौना और गैरकानूनी प्रयास हैं।
‘ट्रंप को हटाने की कोशिश 2016 से जारी’
कानूनी टीम ने कहा, ‘यह 2016 के चुनावों के परिणामों को पलटने और 2020 के चुनाव में हस्तक्षेप करने का एक घिनौना और गैरकानूनी प्रयास है। राष्ट्रपति के खिलाफ महाभियोग लाने के अत्यधिक पक्षपातपूर्ण प्रयास उसी दिन से शुरू हो गये थे, जिस दिन से उन्होंने कार्यभार संभाला था और आज भी जारी है।’ महाभियोग को रिपब्लिकन-नियंत्रित सीनेट भेजे जाने से पहले अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष नैन्सी पैलोसी ने इसके तहत लगाए गए आरोपों पर हस्ताक्षर किए थे।

शुरू हुई ट्रंप के खिलाफ ऐतिहासिक सुनवाई
ट्रंप के खिलाफ ऐतिहासिक महाभियोग की सुनवाई गुरुवार को को सीनेट में शुरू हो गई। सीनेट में सांसदों ने शपथ ली कि वह इस बारे में निष्पक्ष निर्णय लेंगे कि ट्रंप को राष्ट्रपति के पद से हटाया जाए या नहीं। हाउस स्पीकर पेलोसी द्वारा नियुक्त किए गए प्रबंधकों में सांसद एडम शिफ, जेरोल्ड नाडलेर, जोए लोफग्रेन, हाकिम जैफ्रीज, वाल डेमिंग्स, जेसन क्रो और सिल्विया गारसिया शामिल हैं।

%d bloggers like this: