नोएडा शहर को बेहतर बनाने पर हुई चर्चा

Spread the love

नोएडा में आयोजित एनजीवाई इंफ़्रा कॉन्क्लेव-2020 में शहर को बेहतर बनाने पर हुई चर्चा

नोएडा । नोएडा स्थित रैडिसन ब्लू होटल में आज ग्रेसेल मारकॉम द्वारा एनजीवाई (NGY) इन्फ्रा कॉन्क्लेव आयोजित किया गया।  इस मौके पर पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं सांसद डॉ . महेश शर्मा ने मुख्य अतिथि के रूप में शिरकत की। वहीं इस कार्यक्रम में गौतमबुद्धनगर के पुलिस आयुक्त आलोक सिंह समेत कई अन्य अधिकारी, शहर के गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे।

इस दौरान नोएडा,  ग्रेटर नोएडा व यमुना  प्राधिकरण तथा उत्तर प्रदेश औद्योगिक विकास प्राधिकरण में हो रहे विकास कार्यों के साथ कई नई योजनाओं के बारे में खुलकर चर्चा की गई।

 इस कार्यक्रम के शुरुआत में कॉन्क्लेव के चैयरमेन योगेंद्र नारायण ने  लोगों को सम्बोधित करते हुए कहा कि आज की संगोष्ठी में बहुत से विषयों पर चर्चा हुई है, जिससे बहुत महत्वपूर्ण बिंदु निकलकर सामनेआए हैं। हमें उम्मीद है कि आज के कार्यक्रम का नतीजा आने वाले कुछ ही महीनों में धरातल पर दिखाई देगा।

कॉन्क्लेव में आए नोएडा के पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह ने कहा कि फिलहाल हम लोग यहां क्राइम के तरीके और उन्हें किस तरह से अंजाम दिया जाता है, इस पर काम कर रहे हैं तथा जल्द ही जनता को सुरक्षित माहौल दिया जाएगा। यह पुलिस के व्यवहार से लोगों को नजर आ जाएगा।

भारत सरकार के योजना आयोग के पूर्व सदस्य बीके चतुर्वेदी ने सम्बोधित करते हुए कहा कि शहर के निवासियों के जीवन यापन से संबंधित अन्य कार्यों के बारे में चर्चा होनी चाहिए । आने वाले समय में गौतमबुद्ध नगर जिले को सबसे ज्यादा बेहतर जिला बनाया जाए, जिससे यहाँ उद्यमी अपना उद्योग लगा सकें और यहाँ के लोगों को रोजगार मिल सके।

इस मौके पर गौतमबुद्ध नगर के सांसद डॉ महेश शर्मा ने मौजूद लोगों के साथ अपना विचार साझा किया। उन्होंने कहा कि नोएडा , ग्रेटर नोएडा और यमुना एक्सप्रेस – वे तीनों शहरों को बेहतर से बेहतर बनाने के लिए हर तरह के प्रयास किए जाएं। डॉ . महेश शर्मा ने कहा कि शहर में जिस तरह से दिन – प्रतिदिन प्रदूषण का स्तर बढ़ता जा रहा है , यह सोचने की बात है कि इसे किस तरह से कम किया जाए । 


सांसद डॉ. शर्म्मा ने जेवर एयरपोर्ट का जिक्र करते हुए कहा कि उनके केंद्रीय मंत्री रहते हुए इस प्रोजेक्ट का खाका तैयार किया गया था। इसके लिए उन्होंने दिन  रात मेहनत की ताकि  देश का सबसे बड़ा एयरपोर्ट गौतमबुद्ध नगर ज़िले में ही बने। काफी लोग एयरपोर्ट इस ज़िले में बनवाने के खिलाफ थे, लेकिन उन्होंने मजबूती के साथ अपना पक्ष रखा और दुनिया के चौथे सबसे बड़े एयरपोर्ट का अपने ज़िले में ही निर्माण कराना सुनिश्चित किया। 

उन्होंने कहा कि ट्रैफिक कंट्रोल करने के लिए चिल्ला से लेकर महामाया तक एलिवेटेड रोड के निर्माण का कार्य शुरू हो चुका है । इसके अलावा शाहदरा , आईटीओ से रेड लाइट फ्री होकर कोई भी व्यक्ति जेवर एयरपोर्ट तक जा सकता है। उन्होंने नोएडा में 118 एकड़ में बने देश के पहला बोटेनिकल गार्डेन का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि नोएडा हर तरह से गुरुग्राम से बेहतर है। गुरुग्राम के पास पानी नहीं है, हमारे पास है। इसे संभालकर रखना होगा।

डॉ. महेश शर्मा ने जोर देकर कहा कि बच्चों के वसीयत में लिखने के लिए नोएडा को बेहतर बनाना होगा। टाउन प्लानर को इस पर विशेष ध्यान में रखना होगा कि यह शहर झुग्गियों का शहर न बन जाए। जिस गांव में 5 हजार लोगों को रहने की क्षमता है वहां आज 50 हजार लोग रह रहे हैं। उन्होंने कहा कि सियासत के खिलाफ कोई गिला नहीं, लेकिन रियासत के खिलाफ गद्दारी कबूल नहीं। 

 इस कार्यक्रम के पहले सत्र में शहर में औद्योगिक संरचना योजना एवं विकास से संबंधित विषयों पर भी चर्चा की गई जिसमें बताया गया की गौतमबुद्ध नगर में उत्तर प्रदेश सरकार समेत तीनों प्राधिकरण औद्योगिक के लिए क्या कार्य कर रही है। इस मौके पर कार्यक्रम के  आयोजक त्रिलोक शर्मा ने सभी लोगों को महत्वपूर्ण सुझाव देने तथा शहर को बेहतर से बेहतर बनाने की दिशा में सुझाव भी मांगे।

एनजीवाई इंफ़्रा कॉन्क्लेव 2020 में आए गौतमबुद्ध नगर के जिलाधिकारी बीएन सिंह ने लोगों को बताया की उत्तर प्रदेश की तमाम योजना गौतमबुद्ध नगर के निवासियों को लाकर दी है । साथ ही उन्होंने बताया कि भू माफिया पर किस तरीके से जिलाधिकारी द्वारा कार्यवाही की गई है। डीएम ने प्राधिकरण द्वारा सिर्फ डेवलॅप क्षेत्र में विकास करने और ग्रामीण क्षेत्र को नजरअंदाज किये जाने पर चिंता प्रकट की। साथ ही शहर में बढ़ते स्लैम क्षेत्र को रोकने के लिए उनके द्वारा किये गए कार्य का भी जिक्र किया।


वही दूसरे सत्र में जीवनयापन में आसानी – गौतम बुद्ध नगर में स्वच्छता , प्राथमिक शिक्षा , प्रदूषण को कम करना एवं कला और संस्कृति को बढावा देना जैसे विषयों पर चर्चा की गई। आयोजन समिति के चेयरमैन रिटायर्ड आईएएस योगेंद्र नारायण  थे। इस मौके पर एमिटी ग्रुप के डायरेक्टर आनंद चौहान , फोनरवा के अध्यक्ष योगेंद्र शर्मा , एनईए के महासचिव वीके सेठ , पीयूष मंगला , प्राधिकरण के जीएम राजीव त्यागी , कॉन्क्लेव के कन्वीनर त्रिलोक शर्मा , विकास शर्म्मा समेत दर्जनों गणमान्य लोग मौजूद रहे।

%d bloggers like this: