पश्चिम बंगाल में दलबदलुओं को उतारने पर बीजेपी में घमासान

Spread the love

पश्चिम बंगाल में भले ही टीएमसी के तमाम नेताओं को लेकर बीजेपी चुनावी जंग जीतने की कोशिश में है, लेकिन इसके चलते उसे पार्टी के भीतर ही विरोध का सामना करना पड़ रहा है। पश्चिम बंगाल में उम्मीदवारों के ऐलान के बाद से कार्यकर्ता सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन कर रहे हैं। फिलहाल इस पूरे मसले पर कार्यकर्ताओं को समझाने और सहमति बनाने की कोशिश में होम मिनिस्टर अमित शाह और जेपी नड्डा खुद जुटे हुए हैं। सोमवार शाम से ही दोनों नेता अंसतुष्ट नेताओं और कार्यकर्ताओं से मुलाकात कर उन्हें साधने का प्रयास कर रहे हैं। एक सीनियर बीजेपी ने बताया कि सोमवार शाम को कोलकाता में अमित शाह और जेपी नड्डा ने इस संबंध में मुलाकात की थी। यही नहीं मंगलवार सुबह भी ऐसी एक मीटिंग हुई है।

इस मीटिंग में पश्चिम बंगाल के कुछ सीनियर लीडर्स को भी शामिल किया गया है। हालांकि अभी यह तय नहीं है कि मीटिंग में कौन लोग थे। जेपी नड्डा मंगलवार को भी पूरे दिन पश्चिम बंगाल में ही रैलियां करने वाले हैं, जबकि अमित शाह असम के लिए रवाना हो गए हैं। अमित शाह को सोमवार की रात दिल्ली लौटना था, लेकिन पश्चिम बंगाल में उम्मीदवारों के ऐलान से कार्यकर्ताओं के अंसतुष्ट होने के चलते वह कोलकाता में ही रात रुके और मीटिंग की। हालांकि पार्टी ने आधिकारिक तौर पर उम्मीदवारों के ऐलान से किसी के असंतुष्ट होने की बात से इनकार किया है।

पश्चिम बंगाल में बीजेपी के प्रवक्ता समिक भट्टाचार्य ने कहा, ‘पूरे राज्य में कोई विरोध नहीं है। कुछ जगहों पर लोगों ने असंतोष जाहिर किया है। पीएम नरेंद्र मोदी और बीजेपी की नीतियों से आकर्षित होकर बहुत से लोगों ने पार्टी जॉइन की है और यह पश्चिम बंगाल में असली बदलाव का संकेत है।’ पार्टी ने पहले दो चरणों के लिए उम्मीदवारों का ऐलान इस महीने की शुरुआत में किया था, जबकि तीसरे और चौथे राउंड के लिए भी 63 कैंडिडेट्स का रविवार को ऐलान किया था। इनमें 27 उम्मीदवार तीसरे चरण के लिए घोषित किए गए हैं, जबकि 36 कैंडिडेट्स का नाम चौथे राउंड के लिए घोषित किया गया है।

दरअसल बीजेपी ने 63 कैंडिडेट्स की जो लिस्ट जारी की है, उसमें 4 अभिनेताओं समेत बड़ी संख्या में पूर्व टीएमसी नेता शामिल हैं, जिन्होंने हाल ही में बीजेपी जॉइन की थी। इसके अलावा कुछ ऐसे लोग भी हैं, जिन्होंने टीएमसी में टिकट न मिलने के बाद पाला बदला है और अब बीजेपी ने उन्हें चुनावी समर में उतारा है। ऐसे कई उम्मीदवारों के विरोध में सैकड़ों की संख्या में बीजेपी वर्कर्स ने सोमवार को कोलकाता स्थिति बीजेपी दफ्तर के बाहर आंदोलन किया था। कई कार्यकर्ता सड़क पर ही बैठ गए तो कुछ लोग पुलिस बैरिकेडिंग को तोड़ने का प्रयास करते दिखे।

अर्जुन सिंह बोले, केंद्रीय नेतृत्व तक पहुंचाएंगे बात: यही नहीं सीनियर नेता और राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुकुल रॉय को भी विरोध का सामना करना पड़ा है। मुकुल रॉय और अर्जुन सिंह को भी कार्यकर्ताओं की ओर से विरोध का सामना करना पड़ा है। कार्यकर्ताओं में असंतोष को लेकर अर्जुन सिंह ने कहा, ‘हम अपने नेताओं और कार्यकर्ताओं से बात करेंगे। इसके बाद केंद्रीय नेतृत्व को रिपोर्ट सौंपी जाएगी।’

%d bloggers like this: