एक माँ, बेटा थोड़ा खाना खाकर जाओ, दो दिनों से नही खाया है

बेटा! थोड़ा खाना खाकर जा “दो दिन से तुने कुछ खाया नहीं है।” लाचार माता के…

आपके हित मे (एक विचार )

🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳 आज मकरसंक्रांति के दिन दान की बड़ी महिमा है…. सब की अपनी अपनी मान्यताए है……

थे बचपन के दिन होते कितने सुहाने अब भी याद आते हैं किस्से पुराने

थे बचपन के दिन होते कितने सुहाने अब भी याद आते हैं किस्से पुराने वह बारिश…

वेद प्रताप वैदिक भारत के प्रसिद्ध राजनैतिक विश्लेषक, वरिष्ठ पत्रकार और हिन्दी प्रेमी हैं।

भारत के प्रसिद्ध राजनैतिक विश्लेषक, वरिष्ठ पत्रकार और हिन्दी प्रेमी हैं। वेद प्रताप वैदिक (अंग्रेज़ी: Ved…

धर्म युद्ध में कभी कभी अधर्म का भी सहारा लेना पड़ता है

धर्म युद्ध में कभी कभी अधर्म का भी सहारा लेना पड़ता है। इस संदर्भ में महाभारत…

जब सच्चा प्यार होता है

जब किसी को किसी से सच्चा प्यार होता है आंखों ही आंखों में प्यार का इजहार…