बिहार: जेल में बंद चिरंजीवी गैंग के दो शातिर गिरफ्तार

Spread the love

बिहार सीतामढ़ी: महिन्दवारा थाना क्षेत्र के महेशा फरकपुर में ग्रामीण सड़क बनवा रहे संवेदक से रंगदारी मांगी गयी थी। इस मामले में पुलिस की विशेष टीम ने दो शातिरों को गिरफ्तार किया है। उसकी पहचान थाने के हाजीपुर बसंत निवासी आमोद भगत व कैलाश कुमार के रूप में की गयी है। एसपी अनिल कुमार ने बताया कि इनके पास से एक लोडेड देशी पिस्टल व एक जिंदा गोली भी बरामद की गयी है। एक मोबाइल भी बरामद हुआ है जिससे रंगदारी मांगी गयी थी। उन्होंने बताया कि पूछताछ में कई अन्य जानकारी हासिल हुई है।

ये दोनों जेल में बंद चिरंजीवी गैंग के गुर्गे हैं । उसी के इसारे पर काम करता है। एसपी ने बताया कि छह मार्च को संवेदक विनय कुमार से रंगदारी मांगी गयी थी। इसकी शिकायत दर्ज कर पुलिस छानबीन कर रही थी। इसी दौरान टेक्निकल सेल की सहायता से छापेमारी कर दोनों को गिरफ्तार किया गया है। इनसे पूछताछ के आधार पर मामले में संलिप्त अन्य अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।

कुख्यात चिरंजीवी हत्या, लूट, रंगदारी, बम विस्फोट, अपहरण समेत कई संगीन मामलों में फिलहाल भागलपुर सेंट्रल जेल में बंद है। चिरंजीवी लंबे समय से जेल में बंद है। वह पूर्व में संतोष झा गैंग के साथ ही काम करता था। लेकिन बाद में वह उससे अलग होकर अपना गैंग बना लिया था। सूचना है कि जेल से ही वह अपने गैंग को संचालित करता है। लेवी सहित अन्य काम अपने गूर्गो की मदद से करवाता है। पुलिस गिरफ्तार दोनो से पूछताछ कर अन्य जानकारी जुटायी है। जिसके आधार पर आगे की कार्रवाई कर रही है।

livehindustan.com

%d bloggers like this: