बड़ी इलायची के हैरान करने वाली 5 फायदे

    0
    5


    इलायची दो प्रकार की होती हैं. एक छोटी और हरी इलायची और दूसरी बड़ी, भूरे रंग की. पर इसका ये मतलब बिल्कुल भी नहीं है कि दोनों के गुण भी एक जैसे हों. दोनों के गुणों में पर्याप्त अंतर होता है.

    भारतीय व्यंजनों में बड़ी इलायची का इस्तेमाल प्रमुखता से किया जाता है. मसालेदार व्यजंनों में स्वाद और सुगंध दोनों के ही लिए इसका प्रयोग किया जाता है. पर कम ही लोगों को पता होगा कि बड़ी इलायची में कई औषधीय गुण भी पाए जाते हैं.

    इलायची दो प्रकार की होती हैं. एक छोटी और हरी इलायची और दूसरी बड़ी, भूरे रंग की. पर इसका ये मतलब बिल्कुल भी नहीं है कि दोनों के गुण भी एक जैसे हों. दोनों के गुणों में पर्याप्त अंतर होता है.

    बड़ी इलायची में कुछ खास किस्म के पोषक तत्व, फाइबर और तेल होता है. ये कई तरह की बीमारियों को दूर करने में कारगर होता है. नियमित रूप से बड़ी इलायची का सेवन करने से स्वास्थ्य बेहतर बनता है.

    ये एंटी-ऑक्सीडेंट, विटामिन सी और पोटैशियम के गुणों से भरपूर होता है. ये सभी तत्व शरीर से विषाक्त पदार्थ बाहर निकालने में मददगार होते हैं. साथ ही ब्लड-सर्कुलेशन को भी बेहतर बनाने का काम करते हैं.

    एरोमा युक्त मसालों की सबसे बड़ी खूबी ये होती है कि ये त्वचा की भी देखभाल करते हैं.

    बड़ी इलायची के फायदे:

    1. बड़ी इलायची सांस लेने संबंधी बीमारियों को दूर रखने में मददगार होती है. अगर आपको अस्थमा, फेफड़े में संकुचन जैसी कोई समस्या है तो बड़ी इलायची का सेवन करना आपके लिए बहुत फायदेमंद होगा. सर्दी-खांसी में भी इसका इस्तेमाल करना अच्छा रहेगा.
    2. विषाक्त पदार्थों को दूर करने के लिए भी बड़ी इलायची का इस्तेमाल करना फायदेमंद रहता है. हमारे शरीर में कई ऐसे विषाक्त पदार्थ बनते हैं जिनका बाहर निकलना बहुत जरूरी होता है. बड़ी इलायची इन विषाक्त पदार्थों को दूर निकालने का काम करती है.
    3. अगर आपके मुंह से दुर्गंध आती है तो बड़ी इलायची चबाना एक अच्छा उपाय है. इसके अलावा मुंह के घावों को ठीक करने के लिए भी बड़ी इलायची को इस्तेमाल में लाया जा सकता है.
    4. अगर आपको अक्सर सिर दर्द की शिकायत रहती है तो बड़ी इलायची के तेल से मसाज करना फायदेमंद रहेगा.
    5. बड़ी इलायची में कई ऐसे पोषक तत्व पाए जाते हैं जो कैंसर के खतरे को दूर रखने में सहायक होते हैं. इसमें मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट्स कैंसर कोशिकाओं को विकसित नहीं होने देते.