आजम खान का अखिलेश यादव ने किया😲 बचाव तो स्मृति ईरानी ने उन्हें दिखाया👊 आईना

Spread the love

लोकसभा में तीन तलाक बिल पर चर्चा के दौरान आजम खान के बयान पर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। एक तरफ जहां आजम खान के बयान की आलोचना हो रही है। तो दूसरी तरफ सपा मुखिया और लोकसभा सांसद अखिलेश यादव ने आजम का बचाव किया है। अखिलेश यादव ने कहा कि आजम खान जी के शब्दों में भावना में कहीं भी ऐसा नहीं है कि उन्होंने पीठ पर उंगली उठाई है। अखिलेश के इस बयान पर सदन में जोरदार हंगामा होने लगा और लोग शेम-शेम कहने लगे। जिस पर अखिलेश यादव बिफर गए।

अखिलेश ने कहा कि इनसे ज्यादा बदतमीज कोई नहीं हो सकता, ये लोग कौन होते हैं उंगली उठाने वाले। ये भाषा नहीं हो सकती है, ये लोग पीठ का अपमान कर सकते हैं। ये लोग कैसे कह सकते हैं, ये लोग तमीज वाले लोग हैं। जिसपर लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला ने सदन को शांत कराते हुए कहा कि आजम खान ने जो कहा वह गलत है और असंसदीय भी है।

वहीं केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने भी आजम खान के बयान को शर्मनाक बताया है, वह सभी पुरुष सांसदों के नाम पर धब्बा हैं । उन्होंने कहा कि आजम खान ने जो कहा वह बेहद शर्मनाक है और उनके चरित्र का प्रतिबिंब है। ना सिर्फ आजम बल्कि स्मृति ईरानी ने अखिलेश यादव पर भी निशाना साधा। उन्होंने ट्वीट करके कहा कि आज़म खान द्वारा दिया गया शर्मनाक बयान उनके चरित्र का प्रतिबिंब है; उनका बचाव करके अखिलेश यादव ने भी प्रमाणित कर दिया की उनकी सोच में भी कोई फ़र्क़ नहीं।

इस बीच एनसीपी नेता माजिद मेमन ने उनका बचाव किया है। माजिद मेमन ने कहा कि आजम खान ने जो कहा वह कहीं से भी गलत नहीं लगता है। उन्होंने असम्मान की भावना से चेयरपर्सन को कुछ नहीं कहा है। मुझे नहीं लगता है कि आजम खान इस तरह की गलत बात कहेंगे, ऐसे में इसे मुद्दा बनाने की जरूरत नहीं है।

वहीं रामपुर से आजम खान के खिलाफ चुनाव लड़ चुकीं बीजेपी नेता जया प्रदा ने उनकी सदस्या रद्द करने की मांग की है। जयाप्रदा ने कहा कि, जो सदस्य सदन की गरिमा नहीं रख सकता है, उसे सदन में रहने का हक नहीं है। रमा देवी महिला हैं और बुजुर्ग हैं उनके लिए इस तरह की बात करने की हिम्मत कैसे हुई। लोकसभा स्पीकर के लिए आप इस तरह की बात करते हो आप सांसद हो या रोडसाइड रोमियो।

%d bloggers like this: