वार्षिक फूलों का मेला नोएडा स्टेडियम में 21 फरवरी से।

Spread the love

नोए़डा सेक्टर 21ए स्टेडियम में फ्लावर शो के लिए तैयारी जोरो-शोरों पर । तीन दिवसीय फ्लावर शो में सौ से ज्यादा प्रजाति के फूल देखने को मिलेंगे। फूलों के मेंले मे सीआरपीएफ बैंड के द्वारा खास प्रस्तुति दिये जायेंगे। ये प्रस्तुति तीनों दिनो होंगे।

नोएडा मे वार्षिक फूलों का मेला के लिए तैयारी जोरों पर है। सभी प्रकार के व्यवस्थाओं को ध्यान मे रखकर इस मेंले कि तैयारी चल रही है और आज उसकों अंतिम रूप दिया जा रहा है। इस तीन दिवसीय मेले को पिछले साल के मुकाबले और अधिक भव्य बनाने की तैयारी है। 34वाँ वार्षिक फ्लावर शो मे ” say to no plastic” पर भी विभिन्न प्रकार के प्रदर्शनी तथा नुक्कड़ नाटक की प्रस्तुति किये जायेंगे।

तीन दिवसीय इस पुष्प उत्सव मे पुष्पों के साथ ही विभिन्न किस्म के कैक्टस बोनसाई , फलों और सब्जियाँ इत्यादि का भी प्रदर्शन किये जायेंगे। कार्यक्रम मे तीनों दिन सीआरपीएफ के द्वारा उत्कृष्ट प्रस्तुति दिये जायेंगे। पुष्प के इस मेले में कई प्रतिष्ठित सरकार तथा गैर सरकारी संस्थान भी अपना प्रस्तुति देंगे। जिसमें उत्तर रेलवे , नई दिल्ली मुंसीपल कार्पोरेशन, दक्षिण दिल्ली मुंसीपल कार्पोरेशन, भारतीय थल सेना, कोटा हाउस, भारत पेट्रोलियम, एलजी, एडोबी सिस्टम, NIIT , दिल्ली पब्लिक स्कूल, ग्रेटर नोएडा औधौगिक विकास प्राधिकरण, बाल भारतीय स्कूल आदि भाग लेंगे। इस मेले मे विभिन्न प्रकार के प्रतियोगिता मे रखे गए है।

इस आशय की जानकारी नोएडा प्राधिकरण के CEO श्रीमती रितु महेश्वरी जी ने पत्रकार वार्ता के दौरान दी। इस बार की मुख्य आकर्षण प्लास्टिक के दुष्प्रभाव और वायु शोधक पौधे के लाभ। जिसमें ह्युमन टच फाउण्डेशन के द्वारा प्लास्टिक के बदले पौधे दिये जाने के कार्यक्रम भी रखे गये है, जो कि एक अनोखा प्रयोग हो सकते है। पूरे प्रदर्शनी के दौरान घरेलु कचरे को जैबिक खाध बनाने के बारे में भी जानकारी दिया जायेगा।

हालाँकि प्लास्टिक्स ” say no to plastic” सरकार के द्वारा एक आंदोलन तक ही सीमित रह गयी है आज भी बाजार मे खुलेआम सब्जियाँ बेची जा रही है। सरकार जनता से उम्मीद करने के बजाय प्लास्टिक्स मैनुफैक्चरिंग पर पाबंदी लगाए तो ज्यादा कारगर होगा। नही तो यह सिर्फ आंदोलन ही रहेगा बाकी सब जस की तस।

%d bloggers like this: