डायबिटीज में आंवला के हैं कई फायदे, पढें

Spread the love

अगर आप डायबिटीज से परेशान हैं तो आंवला आपकी मदद कर सकता है. इसका सबसे अच्छा तरीका तो यही है कि आप ताजा आंवला खाएं.
आंवला डायबिटीज से परेशान लोगों के लिए किसी अमृत से कम नहीं है. आंवला को प्राचीन आयुर्वेदिक प्रणाली में कई तरह के रोगों के इलाज के लिए लगभग पांच हजार साल से इस्‍तेमाल किया जा रहा है. आवंला की तुलना अमृत से की गई है. इस बात में कोई शक नहीं कि आंवला एक वंडर फूड है. इस छोटे से फल में ऐसे गुण हैं जो शरीर के लिए बेहद फायदेमंद हैं. आंवला में मौजूद गुण शरीर की इम्‍यूनिटी बढ़ाते हैं और साथ ही कई बीमारियों को जड़ से भी खत्‍म करता है. आंवला में विटामिन C, विटामिन AB कॉम्‍प्‍लेक्‍स, पोटैशिम, कैलशियम, मैग्‍नीशियम, आयरन, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर और डाययूरेटिक एसिड होते हैं.
आंवले में क्रोमियम तत्‍व पाए जाते हैं जो इंसुलिन हारमोंस को मजबूत कर खून में शुगर लेवल को कंट्रोल करते हैं.
डायबिटीज या मधुमेह के रोगियों के लिए तो आंवला रामबाण है. आवला में पॉलीफेनॉल होता है जो हाई ब्लड शुगर कंट्रोल करता है. पॉलीफेनॉल इंसुलिन के रेसिस्टेंस को रोकते हैं. आंवला ब्लड शुगर में इंसुलिन घुलने से रोकता है.
आंवला की अच्छी बात यह है कि यह क्रोमियम इंसुलिन बनाने वाले सेल्स को ऐक्टिवेट कर देता है. ऐसा होने से ब्लड शुगर कंट्रोल होता है. असल में यह सेल्स शरीर में ब्लड शुगर को कंट्रोल करते हैं.
आवंले में बैक्‍टीरिया और फंगल इंफेक्‍शन से लड़ने की ताकत होती है. इसे खाने से हमारे शरीर की इम्‍यूनिटी बढ़ती है, जिससे हम बीमरियों से दूर रहते हैं. यही नहीं आंवला शरीर में मौजूद टॉक्‍सिन यानी कि जहरीले पदार्थों को बाहर निकाल देता है. आंवला खाने से सर्दी-जुकाम, अल्‍सर और पेट के इंफेक्‍शन से मुक्ति मिलती है.
आंवला खाने से हड्डियों को ताकत मिलती है और वे मजबूत बनती हैं. आंवले में भरपूर मात्रा में कैल्‍शियम होता है और इसे खाने से ऑस्ट्रोपोरोसिस, अर्थराइटिस और जोड़ों के दर्द से आराम मिलता है.
अगर आपको डायबिटीज है तो आंवले के रस में शहद मिलाकर पीने से बहुत आराम मिलेगा.
आंवला के नियमित सेवन से दिल की बीमारी, डायबिटीज, बवासीर, अल्सर, दमा, ब्रॉन्काइटिस और फेफड़ों की बीमारी में राम बाण का का
आंवला को इण्डियन गूज़बेरी भी कहा जाता है. यह शरीर की इम्‍यूनिटी (प्रतिरोधक क्षमता) दुरुस्‍त करने में मददगार है. बालों और आपकी त्वचा के लिए भी काफ़ी फ़ायदेमंद है.
कई शोध यह साबित कर चुके हैं कि आंवला में एंटी डायबिटिक तत्व होते हैं जो डायबिटीज़ (मधुमेह) से लड़ने में मदद कर सकते हैं.
आंवले में मौजूद क्रोमियम बीटा ब्लॉकर के प्रभाव को कम करते हैं. इससे आपका दिल मजबूत और हेल्‍दी बनता है. यही नहीं आंवला खराब कॉलेस्ट्रोल को खत्म कर अच्छे कॉलेस्ट्रोल को बनाने में मदद करता है.

%d bloggers like this: