ब्रिक्स (कैश सोलुशन) कंपनी में गार्ड की हत्या करने वाला अभियुक्त गिरफ्तार : थाना सेक्टर 20

Spread the love

नोएडा थाना सेक्टर पुलिस नें ब्रिक्स( कैश सोलुशन ) कंपनी में हुई गार्ड की हत्या से संबंधित एक वांछित अभियुक्त को किया गिरफ्तार। घटना में प्रयुक्त अवैध रिवाल्वर 32 बोर व 3 कारतूस बरामद। अभियुक्त कंपनी के पूर्व कर्मचारी, नौकरी से निकाले जाने से था परेशान। पहचान छुपाने के लिए गार्ड को मारी थी गोली जिसका मौके पर हुई थी मौत। थाना सेक्टर 20 ने गिरफ्तारी के लिए बनायी एक टीम, टीम को मिला बड़ी कामयाबी। अभियुक्त पूर्व में सीआरपीएफ असिस्टेंट कमाण्डेंट से दिया था त्यागपत्र।

पुलिस उपायुक्त नोएडा जोन, अपर पुलिस उपायुक्त नोएडा एवं संहायक पुलिस आयुक्त नोएडा, प्रथम के द्वारा थाना क्षेत्र में फरवरी में हुयी ब्रिक्स कंपनी में गार्ड की हत्या की घटना के संबंध में थाना सेक्टर-20 पर मु0अ0स0 109/22 धारा 302 भादवी पंजीकृति है। जिसके तहत एक टीम बनाकर घटना की जांच की जा रही थी। इस टीम ने सुचना के आधार पर कंपनी का ही एक पूर्व कर्मचारी जिसका नाम अरुण गहलोत पूत्र जिले सिंह जो कि 331 मित्ररांव थाना बाबा हरिदास नजफगढ़ दिल्ली के रहने वाला है गिरफ्तार किया और उसके पास से हत्या में प्रयुक्त अवैध रिवाल्वर 32 बोर न 3 कारतूस जिंदा बरामद किया है।

थाना पुलिस के अनुसार अरुण कुमार जो घटना के अभियुक्त है, सन 2003 में सीआरपीएफ में बतौर सब इंसपेक्टर भर्ती हुआ और साल 2014 मे नौकरी से बतौर असिस्टेंट कमांडेट त्यागपत्र दे दिया। जिसके बाद विभिन्न कंपनियों में बतौर सुरक्षा हैड के तौर पर काम किया। तत्पश्चात 2018 में ब्रिक नामक कैश सोलुशन प्रोवाईडर कंपनी में बतौर रिजनल सिक्योरिटी मैनेजर का किया। जिसके बाद 2020 सितंबर में कंपनी के द्वारा कोविड-19 के छटनी के दौरान कंपनी से निकाल दिया गया।

कंपनी से छटनी के बाद अभियुक्त को काफी आघात लगा। क्योंकि अरुण ने कंपनी को काफी ज्यादा आर्थिक लाभ पहुँचाया था लेकिन उस समय में अरुण को निकाल दिया गया जब उसको नौकरी की जरूरत था। जिसके बाद अभियुक्त के द्वारा कंपनी में चोरी करने का प्लान बनाया क्योंकि अभियुक्त को कंपनी के सेक्युरिटी के बारे में सबकुछ पता था। प्लान के मुताबिक 8 फरवरी 2021 को आँटो से आया और जैसे ही कंपनी में घुसने लगा कंपनी के गार्ड नें उसे पहचान लिया। अभियुक्त पकड़े जाने के डर से कंपनी के गार्ड को गोली मार दिया जिससे गार्ड उतम की घटनास्थल पर ही मृत्यु हो गयी।

अभियुक्त गिरफ्तार करने वाली टीम में प्रभारी निरीक्षक मुनीश प्रताप सिंह, वरिष्ठ उप. नि0 पवन कुमार, उप नि0 सनत कुमार, है0कां0 मोनु, है0कां0 इंद्रीश, है0कां0 फिरोजखान सर्विसांससेल, है0कां0 नरेन्द्र सिंह, कां0 दीपक कुमार, कां0 परमेश कुमार थाना सेक्टर 20 शामिल।

%d bloggers like this: